दिनेश कार्तिक (Dinsh Karthik) की कोलकाता नाइटराइडर्स (Kolkata Knight Riders) ने पिछली बार की उप विजेता महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी वाली चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) को आईपीएल 2020 के 21वें मैच में 10 रन से हरा दिया.  केकेआर (KKR) की 5 मैचों ये तीसरी जीत है.  इस जीत से कोलकाता टीम 6 अंक के साथ प्वाइंट्स टेबल में तीसरे नंबर पर पहुंच गई है वहीं चेन्नई की 6 मैचों में ये चौथी हार है. Also Read - SRH vs DC: राशिद ने महज सात रन देकर निकाले तीन विकेट, इस तरह हैदराबाद ने दर्ज की जीत

चेन्नई की 4 अंक लेकर प्वाइंट्स टेबल में 5वें नंबर पर है.  कोलकाता की ओर से रखे गए 168 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई 5 विकेट पर 157 रन ही बना सकी.  उसकी ओर से ओपनर शेन वॉटसन ने सर्वाधिक 50 रन बनाए. Also Read - SRH vs DC: आईपीएल में आज तीन साल बाद हुआ ये इत्‍तेफाक, वार्नर-साहा बने सूत्रधार

आइए जानते हैं केकेआर की जीत के 5 कारण:- Also Read - क्या अगले सीज़न में CSK की कप्तानी नहीं करेंगे एमएस धोनी? सीईओ ने दिया बड़ा बयान

राहुल त्रिपाठी की अर्धशतकीय पारी

पहला विकेट गिरने के बाद राहुल त्रिपाठी (Rahul Tripathi) ने केकेआर का एक छोर संभाले रखा.  उन्होंने 51 गेंदों पर 8 चौकों और 3 छक्कों की मदद से 81 रन की पारी खेली जिसकी बदौलत केकेआर टीम 167 रन का स्कोर बनाने में सफल रही.  राहुल को उनकी शानदार पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया.

वरुण चक्रवर्ती ने महेंद्र सिंह धोनी को भेजा पवेलियन

स्पिनर वरुण चक्रवर्ती ने महेंद्र सिंह धोनी को बोल्ड कर चेन्नई की जीत की उम्मीदों पर पानी फेर दिया.  धोनी 12 गेंदों पर 11 रन बनाकर आउट हुए.  उन्होंने अपनी पारी में एक चौका लगाया.  धोनी को जल्दी आउट करना केकेआर के लिए बोनस साबित हुआ.

आंद्रे रसेल ने सैम कर्रन को आउट कर बनाया दबाव

सैम कर्रन (Sam Curran) को चेन्नई ने रवींद्र जडेजा से पहले बल्लेबाजी के लिए भेजा था.  कर्रन ने शुरुआत तो अच्छी की लेकिन जब आंद्रे रसेल 18वां ओवर लेकर आए उसकी पहली ही गेंद पर वह आउट हो गए.  उन्होंने पारी को आगे बढ़ाने की कोशिश की लेकिन रसेल ने उन्हें अपनी स्लो बॉल की रणनीति में फंसा लिया.

स्पिन और पेस अटैक ने बल्लेबाजों को खुलकर नहीं खेलने दिया

कोलकाता के स्पिन और तेज गेंदबाजों ने चेन्नई के बल्लेबाजों को खुलकर शॉट नहीं खेलने दिया.  नतीजतन चेन्नई के बल्लेबाज एक के बाद एक विकेट गंवाते चले गए.  यहां केकेआर के गेंदबाजों की तारीफ करनी होगी जिन्होंने अनुभवी बल्लेबाजों की एक न चलने दी.

अंबाती रायडू का विकेट केकेआर के लिए वरदान साबित हुआ

चेन्नई के बल्लेबाज अंबाती रायडू (Ambati Rayudu) और शेन वॉटसन (Shane Watson) जब तक क्रीज पर थे तब तक ऐसा लग रहा था कि केकेआर के हाथ से मैच निकल जाएगा.  लेकिन युवा तेज गेंदबाज कमलेश नागरकोटि ने रायडू को शुबमन गिल के हाथों कैच कराकर इस खतरनाक दिख रही साझेदारी को तोड़ा.  रायडू 30 रन बनाकर आउट हुए.  इसके बाद चेन्नई का कोई भी बल्लेबाज टिककर नहीं खेल सका.