चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के सीईओ कासी विश्वनाथन ने टीम के तेज गेंदबाज केएम आसिफ (KM Asif) के बायो सिक्योर बबल प्रोटोकॉल तोड़कर होटल रिसेप्सशन के एरिया में जाने की खबर को खारिज किया। Also Read - RCB vs SRH: हार के लिए विराट कोहली ने मौसम को ठहराया जिम्‍मेदार, बोले- हमें लगा…

एएनआई से बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि टीम के होटल में एक अलग लॉबी है जो खिलाड़ियों और स्टाफ की मदद के लिए ही रखी गई है और वहां काम करने वाले स्टाफ सदस्यों की लगातार जांच की जाती है। Also Read - IPL 2020: विराट कोहली महानतम बल्लेबाजों में से एक, तो उनका विकेट सबसे खास: संदीप शर्मा

उन्होंने कहा, “मुझे नहीं पता कि तथ्यों की जांच हुई है या नहीं क्योंकि हालांकि यहां लॉबी में एक रिसेप्शन है, लेकिन सीएसके टीम के लिए स्टाफ अलग है। जाहिर तौर पर आसिफ सामान्य स्टाफ से जाकर बात नहीं करेगा।” Also Read - RCB vs SRH HIGHLIGHTS: सनराइजर्स हैदराबाद ने बैंगलोर को हराकर बढ़ाया प्लेऑफ का रोमांच, उसकी जीत में ये 5 कारण रहे खास

विश्वनाथन ने कहा, “लड़कों को पता है कि उनकी सेवा के लिए एक अलग टीम बनाई गई है। ये बात सच है कि उसकी चाभी खो गई थी और वो रिप्लेसमेंट लेने गया था। लेकिन वो सामान्य स्टाफ के पास नहीं गया था, बल्कि टीम के लिए निर्धारिक डेस्क पर ही गया था। मामले को बिना बात बढ़ा चढ़ाकर दिखाया जा रहाहै और तथ्यों को ध्यान में रखने की जरूरत है।”

सीईओ ने बताया कि वो खुद भी खिलाड़ियों और स्टाफ के बबल में प्रवेश नहीं करते हैं, चूंकि स्टाफ और प्रशासकों का बबल अलग अलग है।

उन्होंने कहा, “हम सभी को हालात की गंभीरता का अंदाजा है और कोरोना वायरस घातक है। यहां तक कि मैं खुद भी उस फ्लोर पर नहीं जाता हूं जहां खिलाड़ी और स्टाफ रह रहे हैं। उनका बबल अधिकारियों के लिए तैयार किए गए बबल से अलग है।”

सीईओ ने आगे कहा, “हम जितना हो सके उतनी सावधानी बरत रहे हैं। खिलाड़ी अब तक 14 जांचों से गुजर चुके हैं और आसिफ भी उसका हिस्सा था, वो भी निगेटिव है। हम होटल स्टाफ के सभी सदस्यों को बबल का हिस्सा बनने के लिए बाध्य नहीं कर सकते लेकिन मैं आपको बता दूं कि उन सभी की हर रोज जांच हो रही है।”