आईपीएल (IPL) में चेन्नै सुपरकिंग्स (CSK) और मुंबई इंडियंस (MI) को भले ही एक-दूसरे का चिर-प्रतिद्वंद्वी माना जाता हो. लेकिन आज कोलकाता नाइटराइडर्स (KKR) पर चेन्नै की जीत से मुंबई को फायदा हुआ है. दुबई में खेले गए इस मैच में चेन्नई ने 6 विकेट से जीत दर्ज की, जिसके बूते मुंबई इंडियंस को सबसे पहले प्ले ऑफ में एंट्री मिल गई है. लीग स्टेज के 49वें मैच के बाद टूर्नामेंट के प्ले ऑफ राउंड में पहली टीम अपनी जगह पक्की कर पाई है. Also Read - 'वनडे-टी20 में ऑस्ट्रेलिया को हराना आसान लेकिन टेस्ट में जीत के लिए ख्यालों से बाहर आए टीम इंडिया'

इस बार टूर्नामेंट में अपना खिताब बचाने उतरी मुंबई के12 मैचों के बाद 16 अंक हैं और लीग स्टेज में अभी उसके 2 मैच बाकी हैं. चेन्नई की टीम भले ही प्ले ऑफ की दौड़ से पहले ही बाहर हो चुकी है लेकिन एमएस धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी में खेल रही यह टीम अपने बाकी बचे मैचों में अब अपना खोया सम्मान बचाने के लिए खेल रही है. चेन्नै की टीम ने यहां टॉस जीतकर पहले फील्डिंग का फैसला किया था, जिसमें केकेआर ने नीतीश राणा (87) की शानदार पारी की बदौलत 173 रन का टारगेट मिला. सीएसके की इस जीत में उसके ओपनिंग बल्लेबाज रुतुराज गायकवाड़ (72) और रवींद्र जडेजा (31) ने चेन्नई की जीत में शानदार भूमिका निभाई. Also Read - ब्रायन लारा बोले-सूर्यकुमार यादव को ऑस्ट्रेलिया में टीम इंडिया के साथ होना चाहिए था

173 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नै की टीम इस मैच में मजबूत दिख रही थी लेकिन पारी के 14वें ओवर में अंबाती रायुडू (38) के आउट होते ही मैच पलटता दिखा और केकेआर की पकड़ में आ गया. रायुडू के बाद सीएसके ने धोनी (1) और गायकवाड़ के रूप में 2 और विकेट गंवाए. लेकिन छठे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे रवींद्र जडेजा ने हारी बाजी को जीत में बदल दिया. जडेजा ने मात्र 11 गेंदों में 31 रन ठोककर सीएसके को इस सीजन की 5वीं जीत दिलाई. Also Read - ...जब रोहित शर्मा ने सूर्यकुमार यादव से कहा-आज नहीं तो कल जरूर मिलेगा आपको मौका, अपना काम करते रहो

इस हार के बाद प्ले ऑफ में पहुंचने के लिए केकेआर की राह अब मुश्किल हो गई है. 13 मैचों के बाद उसके पास 12 ही अंक हैं और उसके पास एकमात्र मैच बचा है, जो उसे रविवार को राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ खेलना है. अगर केकेआर वह मैच जीत भी जाती है तो भी उसके 14 ही अंक होंगे और ऐसे में प्ले ऑफ का फैसला रनरेट के आधार पर होगा, जिसे सुधारने के लिए केकेआर को कुछ खास मेहनत करनी होगी.