इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) के इतिहास में रविवार रात ऐसा पहली बार हुआ जब मैच के रिजल्ट के लिए एक ही मैच में दो सुपर ओवर का इस्तेमाल किया गया.  इस रोमांचक मैच में किंग्स इलेवन पंजाब (Kings XI Punjab) ने मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) को हराकर पूरे 2 अंक अर्जित किए. Also Read - Aus vs Ind, 1st ODI, Preview: ऑस्ट्रेलिया में भारत के 'संकटमोचन' रोहित शर्मा के बिना पहला वनडे खेलने उतरेगी टीम इंडिया

किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान लोकेश राहुल (Lokesh Rahul) ने कहा है कि मुंबई के खिलाफ इस बेहद रोमांचक मैच में केवल 5 रन का बचाव करने के दौरान तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी (Mohammad Shami) सुपर ओवर (Super Over) में छह यॉर्कर फेंकना चाहते थे. Also Read - IND vs AUS, 1st ODI, Predicted-XI: जीत से अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में वापसी के लिए इस प्‍लेइंग-XI के साथ उतरेगा भारत

नियमित 20 ओवर के बाद मैच टाई रहा.  किंग्स इलेवन पंजाब की टीम इसके बाद पहले सुपर ओवर में पांच रन ही बना सकी.  शमी ने हालांकि शानदार गेंदबाजी करते हुए मुंबई को इसी स्कोर पर रोक दिया. Also Read - KL Rahul का दावा, Marnus Labuschagne नहीं बना पाएंगे भारत के खिलाफ ज्‍यादा रन, बताई ये वजह

किंग्स इलेवन पंजाब ने अंतत: दूसरे सुपर ओवर में जीत दर्ज की.

राहुल ने मैच के बाद कहा, ‘आप कभी सुपर ओवर के लिए तैयारी नहीं कर सकते.  कोई टीम ऐसा नहीं कर सकती.  इसलिए आपको गेंदबाज पर भरोसा करना होता है.  आप गेंदबाज पर भरोसा करते हो और उम्मीद करते हो कि वह अपनी सहज प्रवृत्ति के अनुसार गेंदबाजी करेगा. ’

उन्होंने कहा, ‘वह (शमी) बिल्कुल स्पष्ट था, वह छह यॉर्कर फेंकना चाहता था.  उसने शानदार काम किया और प्रत्येक मैच के साथ बेहतर हो रहा है.  यह महत्वपूर्ण है कि सीनियर खिलाड़ी टीम को मैच जिताएं. ’

मैन ऑफ द मैच चुने गए राहुल ने जीत पर खुशी जताई

मैच में 77 रन की पारी खेलने के लिए मैन ऑफ द मैच चुने गए राहुल ने जीत पर खुशी जताई लेकिन कहा कि उनकी टीम इस तरह जीत दर्ज करने की आदत नहीं बनाना चाहती.  उन्होंने कहा, ‘यह पहली बार नहीं हुआ.  लेकिन हम इस तरह की आदत नहीं बनाना चाहते.  अंत में हम दो अंक स्वीकार करेंगे.  हमेशा वैसा नहीं होता जैसी आप योजना बनाते हो इसलिए आपको नहीं पता कि संतुलित कैसे रहना है. ’

 ‘क्रिस के आने से बल्लेबाज के रूप में मेरा काम आसान हो गया है’

राहुल ने कहा कि विकेट थोड़ा धीमा था और इसलिए उन्हें पता था कि पावर प्ले में रन बनाना महत्वपूर्ण होगा.  उन्होंने कहा, ‘मैं क्रिस (गेल) और (निकोलस) पूरन को जानता हूं… मैं विश्वास करता हूं कि वे स्पिनरों के खिलाफ रन बनाएंगे.  क्रिस के आने से बल्लेबाज के रूप में मेरा काम आसान हो गया है.’