भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज चेतन चौहान का मानना है कि इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) बेहद महत्वपूर्ण टूर्नामेंट है लेकिन इसके मुकाबले टी20 विश्व कप के आयोजन को तरजीह दी जानी चाहिए। Also Read - पाक बल्लेबाज बाबर आजम के पास विराट कोहली के स्तर तक पहुंचने की क्षमता है : आकाश चोपड़ा

चौहान ने रविवार को ‘भाषा’ से बातचीत में कहा, ‘‘आईपीएल निश्चित रूप से विश्व क्रिकेट का बेहद महत्वपूर्ण आयोजन है। ये ना सिर्फ बीसीसीआई के लिए वित्तीय संसाधन जुटाने का सबसे महत्वपूर्ण जरिया है बल्कि उभरते हुए खिलाड़ियों विशेषकर भारतीय क्रिकेटरों के लिए बेहतरीन मंच भी है, लेकिन अगर अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्वकप के आयोजन की संभावना बनती है तो निश्चित रूप से उसे तरजीह दी जानी चाहिए।’’ Also Read - उठाए चयन पर सवाल तो आर्चर बोले- अब तक क्‍यों नहीं बन पाए कोच ? विंडीज दिग्‍गज ने दिया ये जवाब

उन्होंने कहा कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) की वित्तीय स्थिति बेहतर बनाए रखने के लिए आईपीएल बेहद महत्वपूर्ण टूर्नामेंट बन गया है। चौहान ने कहा, ‘‘बीसीसीआई को अपने अनुबंधित खिलाड़ियों को वेतन तथा सेवानिवृत्त खिलाड़ियों को पेंशन इत्यादि देनी होती है। साथ ही उसके अन्य भी बहुत से खर्चे हैं। इसके लिए काफी धन की जरूरत होती है।” Also Read - 'माता-पिता के साथ हुआ भेदभाव याद आ गया': नस्लवाद पर बात करते समय भावुक हुए माइकल होल्डिंग

उन्होंने कहा, “ऐसे में बीसीसीआई के लिए आईपीएल बेहद महत्वपूर्ण टूर्नामेंट होता है। साथ ही भारत के उभरते हुए खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों के साथ खेलने का मौका भी आईपीएल में ही मिलता है। मगर फिर भी विश्वकप से इसकी तुलना नहीं की जा सकती।’’

 न्यूजीलैंड में आयोजित किया जाय विश्व कप

चौहान ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया में सरकार द्वारा कई रियायतों के बाद 25% दर्शकों के साथ टी20 विश्व कप के आयोजन की संभावना बढ़ गई है। ऐसे में इस टूर्नामेंट के अक्टूबर-नवंबर में पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार आयोजन को प्राथमिकता मिले। इसके लिये न्यूजीलैंड को मेजबानी सौंपी जा सकती है जिसे कोविड-19 से मुक्त घोषित किया गया है।

उन्होंने कहा, ‘‘बेहतर होगा कि टी20 विश्व कप की मेजबानी ऑस्ट्रेलिया के बजाय न्यूजीलैंड को दे दी जाए जो कोरोना वायरस से मुक्त हो चुका है और वहां स्टेडियम में पूर्ण क्षमता में दर्शकों के साथ प्रतिस्पर्धी खेलों का आयोजन भी शुरू हो गया है।’’

चौहान ने बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली को सुझाव दिया कि आईपीएल के आयोजन को जहां तक हो सके टाला जाए। इस बात के प्रति आशान्वित रहा जाना चाहिए कि नवंबर-दिसंबर में कोरोना महामारी का असर इतना कम हो जाएगा कि आईपीएल का आयोजन संभव हो सके। साथ ही विदेश में आईपीएल के आयोजन का विकल्प भी खुला रखना चाहिए।

टी20 विश्व कप का आयोजन ज्यादा अहम

इस बीच पूर्व भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज सैयद किरमानी ने भी कहा कि टी20 विश्व कप ज्यादा अहम आयोजन है। हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि विश्व कप से पहले आईपीएल का आयोजन हो तो यह खिलाड़ियों के लिए बहुत अच्छा रहेगा।

किरमानी ने कहा, ‘‘लॉकडाउन की वजह से दुनिया के तमाम खिलाड़ी कई महीनों से अपने घर पर हैं और संक्रमण की आशंका की वजह से वे अभ्यास भी नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में सीधे-सीधे विश्व कप टूर्नामेंट में उतरना उनके लिए ठीक नहीं होगा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘टी20 विश्व कप बेहद प्रतिस्पर्धी टूर्नामेंट जिसके लिए खिलाड़ियों के लिये मैच अभ्यास जरूरी है, लिहाजा कोशिश यह की जानी चाहिए कि टी20 विश्व कप से पहले आईपीएल का आयोजन किया जाए। ’’