शनिवार को चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के खिलाफ मैच में 5 विकेट से हारकर मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) ने साल 2013 के बाद से ओपनिंग मैच ना जीत पाने का अपना रिकॉर्ड बरकरार रखा है। रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की कप्तानी में अबू धाबी में पहला मैच खेलने उतरी मुंबई टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 162 रन का स्कोर खड़ा किया, जिसे सीएसके ने चार गेंद बाकी रहते हासिल कर लिया।Also Read - इंग्लैंड के बल्लेबाजों पर भारी पड़ेगा भारतीय गेंदबाजी अटैक: उमेश यादव

मैच के बाद कप्तान रोहित ने हार के बड़े कारणों पर चर्चा की। उन्होंने कहा, “हमारे किसी बल्लेबाज ने हमें आगे नहीं बढ़ाया, जैसा कि रायुडू और डु प्लेसिस ने सीएसके के लिए किया। सीएसके के गेंदबाजों को श्रेय मिलना चाहिए, उन्होंने आखिरी ओवरों में अच्छी गेंदबाजी की और मैच को अपनी तरफ खींच लिया।” Also Read - युजवेंद्र चहल को यकीन- इंग्लैंड के खिलाफ भारत को जीत दिलाएंगे विराट कोहली

रोहित ने कहा, “हमें इससे सबक लेने की जरूरत है। अभी शुरुआत है। हम भी अच्छी शुरुआत करना चाहते थे। इस तरह के टूर्नामेंट में ये अहम होता है। हमारे सीखने के लिए कुछ चीजें है, हमने कुछ गलतियां की है। उम्मीद है कि हम उन्हें सुधार करेंगे और अगले मैच में बेहतर तरीके से वापसी करेंगे।” Also Read - खिलाड़ियों का मानसिक स्वास्थ्य के बारे में बात करना सकारात्मक चीज है: जेम्स एंडरसन

कप्तान ने कहा, “हमे पिच से सामंजस्य बिठाना होना, ओस आने से चीजें बेहतर हो जाती है। आपको गैप में खेलना है और खेल के उसी हिस्से पर ध्यान देना है। विपक्षी टीम आपको बांध सकती है, बात केवल ये समझने की है कि आपको क्या करना है।”

पहली बार खाली स्टेडियम में खेल रहे रोहित ने कहा, “हमें दर्शकों का शोर सुनने की आदत है और हमें पता था कि ये (खाली स्टेडियम) होगा, यहीं नए सामान्य हालात हैं लेकिन उम्मीद करता हूं कि ये केवल कुछ समय के लिए है और आगे चलकर चीजें बेहतर होंगी।”