डेथ ओवरों के स्पेशलिस्ट भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) इंडियन प्रीमियर  लीग (IPL 2020) में मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) की ओर से खेलते हैं जिसके कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) हैं.  बुमराह ने रोहित की तारीफों के पूल बांधते हुए कहा कि उनकी कप्तानी में मिलने वाली आजादी ने करियर के लिहाज से उनके आत्मविश्वास को काफी बढ़ाया है.Also Read - Gautam Gambhir में कोरोना के हल्के लक्षण, टेस्ट पॉजिटिव, संपर्क में आए लोगों से की अपील

बुमराह ने कहा, ‘अपनी बात करूं तो, उन्होंने (रोहित) मुझे हमेशा आजादी दी है, उन्होंने हमेशा मुझे खुद के मुताबिक गेंदबाजी करने के लिए कहा है. परिस्थितियां चाहे कैसी भी हो वह कहते हैं कि आप अपनी गेंदबाजी की जिम्मेदारी खुद लें.  इससे आत्मविश्वास बढ़ता है और जिम्मेदारी का अहसास होता है कि मैं जो भी करुंगा उसके लिए खुद जिम्मेदार रहूंगा. ’ Also Read - Shaheen Afridi के लिए T20 WC में भारत के खिलाफ प्रदर्शन है सबसे यादगार, रोहित का विकेट सबसे अहम

उन्होंने कहा, ‘यह किसी भी कप्तान के लिए बड़ी बात है क्योंकि इससे गेंदबाजों का आत्मविश्वास काफी बढ़ता है.  वह आप पर और आपके फैसले पर भरोसा करते हैं. यह बहुत ही सकारात्मक संकेत है.’ Also Read - Rohit Sharma को बनाया जाए टेस्ट कप्तान लेकिन उनकी फिटनेस गंभीर मसला: Ravi Shastri

‘वह मैदान में दूसरे खिलाड़ी से सुझाव लेने में हिचकते नहीं हैं’

बुमराह के अलावा टीम के दूसरे साथी खिलाड़ी और मुंबई इंडियंस के कोचिंग से जुड़े सदस्य भी रोहित की कप्तानी की तारीफ करते हैं.  मुंबई इंडियंस के बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव ने टीम के आधिकारिक ट्विटर पर जारी वीडियो में कहा, ‘वह मैदान में दूसरे खिलाड़ी से सुझाव लेने में हिचकते नहीं हैं.  मैंने कई बार देखा है मुश्किल या दबाव की स्थिति में वह शांत और एकाग्र रहते हैं.  वह उस दौरान कड़े फैसले लेने से पीछे नहीं हटते.’

‘वह बहुत ही शांत स्वभाव वाले खिलाड़ी हैं’

टीम के कोच और श्रीलंका के पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने रोहित को ‘ सहज कप्तान’ जबकि जहीर खान को दिमाग वाला क्रिकेटर करार दिया.  टीम के कोचिंग दल में शामिल पूर्व भारतीय गेंदबाज जहीर ने कहा, ‘ वह बहुत ही शांत स्वभाव वाले खिलाड़ी हैं.  जब वह बल्लेबाजी करते हैं, तो उनकी शैली में कलात्मकता होती है.  आप उसे असल कलात्मकता कह सकते हैं लेकिन जब खेल के बारे में सोचने की बात होती है तो उनका दिमाग बहुत तेज चलता है.’