RR vs KXIP, Highest successful run chase in IPL history: राजस्थान रॉयल्स ने रविवार को शारजाह क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए आईपीएल-13 के रोमांचक मैच में किंग्स इलेवन पंजाब को चार विकेट से हरा दिया. ये आईपीएल इतिहास की सबसे बड़ी सफल रन चेस है. आज तक कोई टीम इतना बड़ा स्कोर चेस नहीं कर पाई है. दरअसल पहले बल्लेबाजी करने उतरी पंजाब ने 20 ओवरों में दो विकेट खोकर 223 रन बनाए. लेकिन राजस्थान ने 19.3 ओवरों में ही इस लक्ष्य को हासिल कर लिया. Also Read - SRH vs DC: राशिद ने महज सात रन देकर निकाले तीन विकेट, इस तरह हैदराबाद ने दर्ज की जीत

राजस्थान के लिए संजू सैमसन ने 42 गेंदों पर 85 रन बनाए. सैमसन की पारी में चार चौके और साथ छक्के शामिल रहे . कप्तान स्टीव स्मिथ ने 27 गेंदों पर सात चौके और दो छक्कों की मदद से 50 रन बनाए. लेकिन सबसे ज्यादा रोमांचक प्रदर्शन रहा राहुल तेवतिया का. राहुल तेवतिया ने 31 गेंदों पर 53 रन बनाए जिसके दम पर राजस्थान ने हारा हुआ मैच अपने पासे में पलट लिया. उन्होंने अपनी पारी में सात छक्के मारे. Also Read - SRH vs DC: आईपीएल में आज तीन साल बाद हुआ ये इत्‍तेफाक, वार्नर-साहा बने सूत्रधार

राहुल तेवतिया ने अपनी पारी की पहली 19 गेंदों में बिना कोई बाउंड्री मारे केवल 8 रन बनाए. एक बार को ऐसा लग रहा था कि राजस्थान ये मैच गंवा देगी. लेकिन उसके बाद अगली 12 गेंदों में उन्होंने 7 छक्कों की मदद से 45 रन बनाए. Also Read - क्या अगले सीज़न में CSK की कप्तानी नहीं करेंगे एमएस धोनी? सीईओ ने दिया बड़ा बयान

मैच जिताऊ पारी खेलने के बाद तेवतिया ने कहा, “अब, मैं बेहतर हूं. वो शुरुआत की 20 गेंद सबसे खराब गेंदें थी जो मैंने खेलीं. मैं नेट्स में बॉल को अच्छे से हिट कर रहा था, इसलिए मुझे खुद पर विश्वास था. शुरू में मैं जब अच्छी तरह से बॉल हिट नहीं कर पा रहा था, तो मैंने डग आउट में देखा, हर कोई उत्सुक था क्योंकि वे जानते हैं कि मैं गेंद को अच्छे से हिट कर सकता हूं. मुझे लगा कि मुझे खुद पर विश्वास करना चाहिए. एक छक्के की बात थी, उसके बाद मैं आगे बढ़ता रहा. एक ओवर में पांच (छक्के) कमाल हो गया.”

राहुल तेवतिया की एक ओवर में पांच छक्कों से सजी आतिशी पारी के दम पर राजस्थान रॉयल्स ने रविवार को यहां मयंक अग्रवाल के शतक से विशाल स्कोर खड़ा करने वाले किंग्स इलेवन पंजाब को चार विकेट से हराकर इंडियन प्रीमियर लीग में सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल करने का नया रिकार्ड बनाया.

रॉयल्स के सामने 224 रन का लक्ष्य था. उसे आखिरी तीन ओवरों में 51 रन चाहिए थे. बड़ा लक्ष्य हासिल करने के लिये मजबूत नींव रखने वाले संजू सैमसन (42 गेंदों पर 85 रन, चार चौके, सात छक्के) और कप्तान स्टीव स्मिथ (27 गेंदों पर 50, सात चौके, दो छक्का) पवेलियन में विराजमान थे.

ऐसे में तेवेतिया (31 गेंदों पर 53 रन, सात छक्के) ने शेल्डन कोटरेल के पारी के 18वें ओवर में पांच छक्के लगाकर पूरे समीकरण ही बदल दिए. नए बल्लेबाज जोफ्रा आर्चर (तीन गेंद पर नाबाद 13) ने मोहम्मद शमी पर लगातार दो छक्के लगाये जबकि तेवतिया ने इसी ओवर में एक छक्के से अपना अर्धशतक पूरा किया. रॉयल्स ने 19.3 ओवर में छह विकेट पर 226 रन बनाकर जीत दर्ज की.

इससे पहले अग्रवाल ने अपने टी20 करियर का दूसरा और आईपीएल का पहला शतक जमाया. उन्होंने 50 गेंदों पर दस चौकों और सात छक्कों की मदद से 106 रन बनाये तथा कर्नाटक के अपने साथी केएल राहुल (54 गेंदों पर 69, सात चौके, एक छक्का) के साथ पहले विकेट के लिये 183 रन की साझेदारी की. निकोलस पूरण ने आठ गेंदों पर नाबाद 25 रन बनाकर किंग्स इलेवन का स्कोर दो विकेट पर 223 रन पर पहुंचाया.

रॉयल्स ने न सिर्फ आईपीएल में सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल करने का रिकार्ड बनाया बल्कि इस टूर्नामेंट में बाद में बल्लेबाजी करते हुए सबसे बड़ा स्कोर भी खड़ा किया. रॉयल्स की यह लगातार दूसरी जीत है जबकि किंग्स इलेवन को दूसरी बार जीत के करीब पहुंचकर हार झेलनी पड़ी.