आईपीएल मैच के दौरान विराट कोहली (Virat Kohli) के सस्‍ते में आउट होने पर अनुष्‍का शर्मा (Anushka Sharma) को लेकर दिए गए बयान पर भारतीय टीम के दिग्‍गज बल्‍लेबाज रहे सुनील गावस्‍कर (Sunil Gavaskar) ने सफाई दी है. पेश मामले में अनुष्‍का शर्मा की तरफ से भी सुनील गावस्‍कर के बयान पर सवाल उठाए गए थे. मामला बढ़ता देख गावस्‍कर ने कहा कि उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है. Also Read - IPL के इकलौते खिलाड़ी बने बेन स्टोक्स, जिसने बनाया ऐसा रिकॉर्ड कि...

गावस्कर ने कहा था कि लॉकडाउन के दौरान अनुष्का अपने पति विराट को प्रैक्टिस में मदद कर रही थी. इसे लेकर सोशल मीडिया पर गावस्कर की जमकर खिंचाई हुई है. खुद अनुष्का ने भी सोशल मीडिया पर गावस्कर से इस बयान को लेकर सफाई मांगी है और कहा है कि वह और विराट सम्मान के हकदार हैं और उनका सम्मान किया जाना चाहिए. Also Read - रेड ड्रेस में विराट को चीयर करते हुए अनुष्का शर्मा ने फ्लॉन्ट किया बेबी बंप, PHOTOS VIRAL

गावस्कर ने इंडिया टूडे से बातचीत के दौरान इसपर सफाई दी. उन्‍होंने कहा, “आप सुन सकते हैं कि मैं और आकाश चोपड़ा कमेंट्री कर रहे थे. हम हि्रनदी चैनल पर थे. आकाश कह रहे थे कि लॉकडाउन के दौरान किसी के लिए भी प्रॉपर प्रैक्टिस का मौका नहीं था. यह बात कुछ खिलाड़ियों में दिखी क्योंकि वे पहले मैच में अपनी लय में नजर नहीं आए.” Also Read - IPL 2020: विराट कोहली बोले-इतनी लंबी लीग में कभी तो हार का सामना करना ही होगा

“पहले मैच में रोहित सही तरीके से गेंद को स्ट्राइक नहीं कर सके और इसी तरह महेंद्र सिंह धोनी भी गेंद पर प्रहार नहीं कर सके. विराट भी पहले मैच में नहीं चल सके. यह सब प्रैक्टिस की कमी के कारण हुआ.”

सुनील गावस्कर ने आगे कहा, “हम यही कहना चाह रहे थे. विराट ने भी कोई प्रैक्टिस नहीं की. वह अपनी बिल्डिंग के कम्पाउंड में खेलते हुए दिखे और उस दौरान अनुष्का उन्हें बॉलिंग करा रही थीं. यही तो मैं कहना चाह रहा था. वह उन्हें गेंदबाजी करा रही थीं. बस.”

गावस्कर ने कहा कि इन सब बातों से कहां लगता है कि मैं अनुष्का को ब्लेम कर रहा हूं या फिर मैं सेक्सिट हूं.

गावस्कर बोले, “मैं तो बस वही कहना चाह रहा था, जो मैंने वीडियो में देखा था. यह वीडियो किसी पड़ोस की बिल्डिंग से किसी ने रिकॉर्ड की थी और उसे सोशल मीडिया पर डाल दिया था. मैं भी तो उसी वीडियो के आधार पर बात कर रहा था.”

गावस्कर ने कहा कि वह सिर्फ यही कहना चाह रहे थे कि वह चाहें विराट हो या फिर रोहित या फिर कोई और, बिना प्रैक्टिस के सबसे अंदर एक तरह का रस्टीनेस आ जाता है, जो पहले मैच में उनके खेल में दिखा.