इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) के 13वें एडिशन का आयोजन 19 सितंबर से 8 नवंबर तक संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में होगा. एमिरेट्स क्रिकेट बोर्ड के सचिव मुबाशशिर उस्मानी ने शुक्रवार को कहा कि अगर सरकार मंजूरी देती है तो वे यूएई में होने वाली में स्टेडियमों को 30 से 50 प्रतिशत तक दर्शकों से भरना चाहेंगे. Also Read - IPL 2020 को लेकर काफी मयंक अग्रवाल हैं काफी उत्‍साहित, बोले- खुद को रोक नहीं पा रहा हूं

दर्शकों की संख्या 30 से 50 प्रतिशत  चाहता है  Also Read - VIVO ने दिया BCCI को धोखा, IPL 2020 की टाइटल स्पॉन्सरशिप से पीछे हटी चीनी कंपनी !

इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) की तारीखों की घोषणा करते हुए इसके अध्यक्ष ब्रजेश पटेल (Brijesh Patel) ने पीटीआई से कहा था कि 19 सितंबर से आठ नवंबर तक होने वाले टी20 टूर्नामेंट के दौरान दर्शकों को मैदान में जाने की अनुमति देने का फैसला संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) सरकार द्वारा लिया जाएगा. Also Read - IPL 2020: MI के खिलाड़ियों की 5 बार होगी कोरोना जांच, इस तारीख को जा सकती है

तारीखों की घोषणा करने के बावजूद भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) भी यूएई में आईपीएल कराने को लेकर भारत सरकार की मंजूरी का इंतजार कर रहा है. उम्मानी ने फोन पर कहा, ‘एक बार हमें बीसीसीआई से (भारत सरकार की मंजूरी के बारे में) पुष्टि हो जाए तो हम अपनी सरकार के पास पूर्ण प्रस्ताव और मानक परिचालन प्रक्रिया (SOP) के साथ जाएंगे जो हमारे और बीसीसीआई द्वारा तैयार किया गया होगा.’

उन्होंने कहा, ‘हम निश्चित रूप से हमारे लोगों को इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट का अनुभव कराना चाहेंगे लेकिन यह पूरी तरह से सरकार का फैसला होगा. यहां ज्यादातर टूर्नामेंट में दर्शकों की संख्या 30 से 50 प्रतिशत तक होती है, हम इसी संख्या की उम्मीद कर रहे हैं.’ उस्मानी ने कहा, ‘हमें इस पर अपनी सरकार की मंजूरी की उम्मीद है.’

यूएई में कोविड-19 के 6000 से ज्यादा सक्रिय मामले हैं

यूएई में कोविड-19 के 6000 से ज्यादा सक्रिय मामले हैं और वहां महामारी पर स्थिति लगभग नियंत्रित ही है. हालांकि नवंबर में होने वाले 2020 दुबई रग्बी सेवंस टूर्नामेंट को कोरोना वायरस के खतरे के कारण 1970 के बाद पहली बार रद्द कर दिया गया है.

उन्होंने आईपीएल की सुरक्षा को लेकर हो रही चिंताओं के बारे में कहा, ‘यूएई सरकार संक्रमितों की संख्या को कम करने में काफी कारगर रही है. हम कुछ नियम और प्रोटोकॉल का पालन करके सामान्य जीवन जी रहे हैं. और आईपीएल में तो अभी थोड़ा समय है, हम निश्चित रूप से इससे बेहतर स्थिति में होंगे.’

आईपीएल की संचालन परिषद रविवार को बैठक करके लॉजिस्टिक और एसओपी पर फैसला करेगी.