दक्षिण अफ्रीका के पूर्व बल्लेबाज एबी डीविलियर्स (AB de Villiers) किसी नाम के मोहताज नहीं हैं. डीविलियर्स क्रिकेट के मैदान पर बल्ले के साथ साथ विकेट के पीछे भी बखूबी अपने काम को अंजाम देते हुए नजर आए हैं.  उनकी फील्डिंग से भी हम सभी वाकिफ हैं.  इस समय डीविलियर्स आईपीएल 2020 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की ओर से खेल रहे हैं.Also Read - India vs England: इंग्लैंड दौरे पर चोटिल हुए खिलाड़ियों के बैकअप भेजेगी BCCI

आईपीएल के 10वें मैच में डीविलियर्स ने मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) के खिलाफ 24 गेंदों पर नाबाद 55 रन बनाए जिसमें 4 चौके और इतने ही छक्के शामिल थे.  इसके बाद उन्होंने विकेटकीपर की भी भूमिका निभाई. आरसीबी के स्पिनर वॉशिंगटन सुंदर (Washington Sundar) एबीडी से काफी प्रभावित हैं. Also Read - तीन भारतीय खिलाड़ियों के चोटिल होने के बाद इंग्लैंड दौरे पर बैकअप भेजेगी BCCI

सुंदर का मानना है कि दक्षिण अफ्रीका के इस आक्रामक बल्लेबाज के विकेटकीपिंग सहित कई काम करने की क्षमता से उनकी इंडियन प्रीमियर लीग टीम में संतुलन आता है.डीविलियर्स खराब फॉर्म के जूझ रहे जोश फिलिप की जगह विकेटकीपिंग करने उतरे थे.  उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया. Also Read - England vs India: भारत को दूसरा बड़ा झटका, Avesh Khan के बाद ये खिलाड़ी भी टेस्ट सीरीज से बाहर

वॉशिंगटन  सुंदर ने डीविलियर्स को देख जताई हैरानी 

मैच के बाद सुंदर ने कहा कि वह हैरान हैं कि क्या इस दुनिया में ऐसा भी कोई काम है जो डीविलियर्स नहीं कर सकते. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके 36 साल के डीविलियर्स के संदर्भ में सुंदर ने कहा, ‘‘मुझे एक ऐसी चीज बताइये जो वह नहीं कर सकता, टीम को उससे जो भी जरूरत होती है वह उसे करता है.  उसे ऐसा करने में खुशी होती है और वह आरसीबी के लिए वर्षों से ऐसा कर रहा है. ’

बकौल सुंदर, ‘इससे काफी संतुलन मिलता है और उसके विकेटकीपिंग करने से गेंदबाजों को भी मदद मिलती है और टीम के लिए फायदे की स्थिति होती है. ’ सोमवार के मैच के संदर्भ में सुंदर ने कहा कि तेज गेंदबाज नवदीप सैनी ने सुपर ओवर में सिर्फ सात रन देकर अपने जज्बे का परिचय दिया.  सुंदर ने कहा, ‘वह (सैनी) शानदार प्रदर्शन कर रहा है, इस साल ही नहीं बल्कि पिछले कुछ वर्षों से.  वह काफी अच्छा है और वह लगातार मजबूत हो रहा है. ’

सुंंदर ने अपने चार ओवर में 12 रन देकर 1 विकेट लिया  

वॉशिंगटन ने कहा, ‘जब हार्दिक (पांड्या) और पोलार्ड सुपर ओवर में क्रीज पर थे तब सिर्फ सात रन देना शानदार है.  इससे उसके जज्बे का पता चलता है और उसमें सफलता की कितनी भूख है, उसे श्रेय जाना चाहिए. ’ मैच में जहां 400 से अधिक रन बने वहीं सुंदर ने अपने चार ओवर में 12 रन देकर एक विकेट चटकाया और वह अपने प्रदर्शन से संतुष्ट दिखे.

उन्होंने कहा, ‘इस मैच के लिए मैं रणनीति बनाकर आया था और मुझे खुशी है कि मुझे यह भूमिका मिली.  मैंने पावरप्ले में गेंदबाजी का लुत्फ उठाया.  जब दो दिग्गज बल्लेबाज खेल रहे हों और सर्कल के बाहर सिर्फ दो क्षेत्ररक्षक हों तो काफी मजा आता है.  मुझे खुशी है कि कप्तान मुझ पर इतना भरोसा करते हैं.’