चेन्नई सुपर किंग्स(CSK)  के स्टार बल्लेबाज सुरेश रैना (Suresh Raina) का कहना है कि यूएई में होने वाला इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) का 13वां सीजन काफी चुनौतीपूर्ण होगा। कोरोना वायरस की वजह से बीसीसीआई तीसरी बार आईपीएल का आयोजन देश से बाहर कर रहा है। Also Read - IPL 2020: दिलीप वेंगसरकर का दावा, इस साल बैंगलोर के पास जाएगा‍ खिताब, बताई ये वजह

डब्ल्यूटीएफ स्पोर्ट्स एप के ब्रांड एंबेसेडर चुने जाने के बाद रैना ने वेबिनार में कहा, ‘‘ये आईपीएल ये देखने के लिए काफी दिलचस्प होगा कि खिलाड़ी कैसे सोच रहे हैं। आप विभिन्न तरह के हालात में खेलोगे और आईसीसी के भी बहुत सारे प्रोटोकॉल होंगे और साथ ही आपको हर दूसरे-तीसरे हफ्ते में कोविड-19 परीक्षण से गुजरना होगा।’’ Also Read - जोफ्रा आर्चर ने डाली आईपीएल 2020 की सबसे तेज गेंद, टॉप-20 में केवल एक भारतीय

बीसीसीआई की मानक परिचालन प्रक्रिया (एसओपी) के अनुसार भारतीय खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ को कम से कम पांच बार कोविड-19 जांच में नेगेटिव आने पर ही यूएई में ट्रेनिंग शुरू करने की अनुमति दी जाएगी। इसके अलावा टूर्नामेंट के दौरान हर पांचवें दिन उनका परीक्षण किया जायेगा। Also Read - शेन वार्न का दावा, जल्‍द ही भारत के लिए सभी प्रारूपों में खेलेंगे संजू सैमसन

रैना ने कहा, ‘‘इसलिए मैं कहूंगा कि इन सभी जांच को कराने के बाद आपको दिमाग में स्पष्ट होना होगा कि आपको मैदान पर क्या करना है क्योंकि अंत में जब आप एक खेल का हिस्सा बन रहे हो तो आपको उस खेल का मजा लेने की भी जरूरत है।’’

महामारी के कारण मार्च के बाद घर में रहने के बाद सफलता के लिए फिटनेस अहम होगी और वो बेताबी से टूर्नामेंट के शुरू होने का इंतजार कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘इस महामारी में खिलाड़ियों के लिए काफी चुनौतियां आयी हैं और फिटनेस महत्वपूर्ण चीज है। शुक्र है कि हम पहले ही यूएई जा रहे हैं। मेरा मानना है कि सभी जांच आईपीएल से पहले हो जाएंगी और हम दिमागी तौर पर अच्छी स्थिति में होंगे क्योंकि पिछले पांच महीने से हम घर पर बैठे थे और ये देखना दिलचस्प होगा कि हम मैदान पर कैसा प्रदर्शन करते हैं।’’