इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) के 13वें सीजन के आयोजन की तारीखें घोषित होने के साथ ही फ्रेंचाइजी मालिकों को राहत मिली है। आईपीएल समिति के चेयरमैन ब्रजेश पटेल ने कहा है कि 13वें सीजन का आयोजन यूएई में 19 सितंबर से 8 नवंबर के बीच किया जाएगा। जिसके बाद किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) के सह मालिक नेस वाडिया (Ness Wadia) ने बयान दिया है कि इस साल का आईपीएल इतिहास में सबसे ज्यादा देखा जाने वाला टूर्नामेंट बनेगा। Also Read - COVID19 Cases In India Today: देश में कोरोना का कहर जारी, 4,000 मौतें और 3.43 लाख नए केस दर्ज

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे इसमें कोई हैरानी नहीं होगी अगर इस बार का आईपीएल सबसे ज्यादा देखा जाने वाला टूर्नामेंट साबित हो। सिर्फ भारत में ही नहीं, दुनिया भर में। प्रायोजकों के लिए काफी फायदा होंगे और मुझे यकीन है कि वो इसे उस नजरिये से देखेंगे।’’ Also Read - Eid-ul-Fitr: PM मोदी ने दी ईद की मुबारकबाद, सभी के अच्छे स्वास्थ्य और कल्याण के ल‍िए की प्रार्थना

टीमों के लिये आर्थिक रूप से असुरक्षित माहौल में प्रायोजक जुटाना चिंता का सबब हो सकता है लेकिन वाडिया ने कहा कि इस साल आईपीएल से होने वाले फायदों को अनदेखा नहीं किया जा सकता। Also Read - 95 साल की वृद्ध महिला हुई कोरोना पॉजीटिव, ऑक्सीजन मास्क पहनकर अस्पताल में किया गरबा, Viral हुआ वीडियो

वाडिया ने कहा, ‘‘मैदान के भीतर और बाहर भी सुरक्षा को लेकर सख्त प्रोटोकॉल अपनाने होंगे ताकि आईपीएल सुरक्षित और सफल हो सके। मैं चाहता हूं कि ज्यादा से ज्यादा कोरोना जांच रोज हो। मैं क्रिकेटर होता तो रोज जांच कराना चाहता। इसमें कोई हर्ज नहीं है।’’

आईपीएल में इंग्लैंड और वेस्टइंडीज टेस्ट सीरीज जैसा बायो सिक्योर बबल नहीं बनाया जाएगा। इस पर वाडिया ने कहा, ‘‘बायो सिक्योर बबल के बारे में संजीदगी से विचार किया जाना चाहिए लेकिन मैं नहीं जानता कि आठ टीमों के टूर्नामेंट में ये संभव है। हम बीसीसीआई से मानक संचालन प्रक्रिया का इंतजार कर रहे हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘यूएई में सबसे ज्यादा जांच हो रही है और उनके पास सारी तकनीक है। बीसीसीआई को पर्याप्त जांच सुनिश्चित कराने के लिए स्थानीय प्रशासन की मदद की जरूरत होगी। लॉजिस्टिक के हिसाब से सोचे तो हम यूएई में आईपीएल पहले भी करा चुके हैं। इस बार प्रोटोकॉल ज्यादा होंगे। उम्मीद है कि बीसीसीआई जरूरी कदम उठाएगा। ईपीएल जैसी फुटबॉल लीग से भी काफी कुछ सीखा जा सकता है।’’