मंगलवार को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) के खिलाफ मैदान पर उतरी दिल्ली कैपटिल्स (DC) को 1 रन से हार का सामना करना पड़ा. अंतिम ओवर में कैपिटल्स की टीम को 14 रन की दरकार थी लेकिन क्रीज पर मौजूद कप्तान रिषभ पंत (Rishabh Pant) और शिमरॉन हेटमायर (Shimron Hetmyer) की जोड़ी यहां सिर्फ 12 रन बना सकी और 1 रन के करीबी अंतर से यह मैच हार गई. मैच के बाद कप्तान पंत ने कहा कि उनकी टीम ने विरोधी टीम को 10 से 15 रन ज्यादा बनाने दिए, जिसके चलते उसे हार का सामना करना पड़ा.Also Read - टीम इंडिया में पहली बार चुने गए जम्मू-कश्मीर के तेज गेंदबाज Umran Malik

पहले बैटिंग करने उतरी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने 19 ओवर में 148 रन ही बनाए थे. लेकिन पारी के अंतिम ओवर में एबी डिविलियर्स ने मार्कस स्टोइनिस पर तीन छक्के जड़कर कुल 23 रन बटोरे, जिसकी बदौलत रॉयल्स ने यहां 171 रन का टोटल हासिल कर लिया. अंत में यही ओवर दिल्ली की हार का कारण बना. एबी डिविलियर्स ने 42 गेंद में पांच छक्कों और तीन चौकों से नाबाद 75 रन की पारी खेली. उनके अलावा रजत पाटीदार (31) और ग्लेन मैक्सवेल (25) ने भी उपयोगी पारियां खेली. Also Read - KL Rahul बने कप्तान, विराट कोहली SA के खिलाफ T20 सीरीज से बाहर

172 रन के टारगेट का जवाब देने उतरी दिल्ली की टीम ने शिमरॉन हेटमायर (25 गेंद, नाबाद 53, चार छक्के, दो चौके) के तूफानी अर्धशतक और कप्तान ऋषभ पंत (48 गेंद में नाबाद 58, छह चौके) के साथ उनकी 7.2 ओवर में 78 रन की अटूट साझेदारी के बावजूद 20 ओवर में चार विकेट पर 170 रन ही बना सकी. Also Read - क्या रिषभ रिषभ पंत से छिनने वाली है दिल्ली की कप्तानी? रिकी पोंटिंग ने दिया जवाब

दिल्ली की टीम को अंतिम ओवर में 14 रनों की दरकार थी लेकिन बैंगलोर के मोहम्मद सिराज (Mohammed Siraj) ने अपनी दमदार यॉर्कर गेदों की बदौलत इसका बखूबी बचाव किया.

पंत ने मैच के बाद कहा, ‘काफी निराश महसूस कर रहा हूं. मुझे लगता है कि इस विकेट पर उन्होंने 10 से 15 रन ज्यादा बना लिए. हेटी (शिमरॉन हेटमायर) ने शानदार पारी खेली और उनकी बदौलत हम इतने करीब पहुंच पाए.’

उन्होंने कहा, ‘जब हमें 14 या 16 रन बनाने थे तो हम योजना बना रहे थे कि जो भी स्ट्राइक पर होगा वह रन बनाने की कोशिश करेगा.’ डिविलियर्स ने बैंगलोर की पारी के अंतिम ओवर में मार्कस स्टोइनिस पर तीन छक्के सहित 23 रन बटोरे. पंत ने अंतिम ओवर स्टोइनिस को देने के फैसले का बचाव किया.

उन्होंने कहा, ‘स्पिनरों को उतनी मदद नहीं मिल रही थी, जितनी हमने सोची थी और यही कारण है कि मैंने अंतिम ओवर स्टोइनिस से कराने का फैसला किया. सभी मैचों से सकारात्मक पक्ष लेना अच्छा होता है, एक युवा टीम के रूप में हम प्रत्येक दिन सुधार करना चाहते हैं.’