इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में लेफ्टआर्म तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट (Jaydev Unadkat) के लिए आईपीएल में पिछले कुछ सीजन कुछ खास नहीं जा पा रहे थे. पिछले सीजन तो वह 7 मैच खेलकर सिर्फ 4 ही विकेट ले पाए थे. लेकिन गुरुवार को दिल्ली कैपिटल्स (DC) के खिलाफ जैसे ही इस गेंदबाज को मौका दिया तो उन्होंने दिखा दिया कि आखिर रॉयल्स की टीम उन पर सालों से भरोसा क्यों जताती आ रही है. उनादकट ने दिल्ली के टॉप 3 बल्लेबाजों को सस्ते में पवेलियन भेजकर रॉयल्स को स्थिति मजबूत कर दी. दिल्ली की टीम 20 ओवर में 8 विकेट गंवाकर सिर्फ 147 रन ही जोड़ पाई. Also Read - चीफ सेलेक्टर का बड़ा बयान, IPL छोड़ देंगे ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी!

दिल्ली की टीम में शिखर धवन और पृथ्वी शॉ बेहतरीन फॉर्म में हैं. पिछले मैच में इन दोनों खिलाड़ियों ने पहले विकेट के लिए 138 रन जोड़कर अपनी टीम को शानदार जीत दिलाई थी. लेकिन इस बार उनादकट के खिलाफ दोनों की एक न चली. कप्तान संजू सैमसन ने उन्हें दूसरे ओवर से ही गेंदबाजी का मौका दिया. अपने पहले ही ओवर में उन्होंने सबसे पहले पृथ्वी शॉ (2) को प्वॉइंट पर डेविड मिलर के हाथों कैच कराया. Also Read - विंडीज दौरे के लिए AUS टीम का ऐलान, IPL खेलने वाले इन क्रिकेटर्स ने वापस लिया नाम, भड़के चयनकर्ता

इसके बाद अपने नए ओवर की पहली ही गेंद पर शिखर धवन (9) को विकेटकीपर संजू सैमसन के हाथों कैच करा दिया. इस तरह उनके पास यहां हैट्रिक का मौका था. हैट्रिक बॉल पर दिल्ली के कप्तान रिषभ पंत सामने थे. हालांकि उनादकट की बेहतरीन बॉल पर पंत किस्मत के सहारे बच गए कि गेंद संजू के दस्तानों में जाने से पहले ने उनके बल्ले का किनारा नहीं चूमा. Also Read - श्रीलंका दौरे पर चुने गए रुतुराज गायकवाड़ ने कहा- माही भाई जो भी बोलते हैं, उसे हमेशा फॉलो करना चाहिए

अपने ओपनर्स के विकेट गंवाकर दिल्ली पहले ही दबाव में घिर चुकी थी और अजिंक्य रहाणे (8) अभी दिल्ली की पारी को संभालने की कोशिश कर ही रहे थे कि उनादकट ने उन्हें अपनी स्लोअर बॉल में फांस कर कॉट एंड बोल्ड आउट कर दिया. यह दिल्ली को मात्र 36 रन के स्कोर पर तीसरा झटका था और तीनों ही कामयाबियां 29 वर्षीय उनादकट के हाथ लगीं. इसकी बदौलत दिल्ली की टीम पावर प्ले में 3 विकेट गंवाकर सिर्फ 36 रन ही बना पाई.

इसके बाद कप्तान संजू ने दिल्ली की पारी के 10 ओवर में ही उनके 4 ओवर का कोटा पूरा करा दिया. इस दौरान उन्होंने 4 ओवर में 15 रन देकर 3 बड़े विकेट अपने नाम किए. यह उनकी शानदार वापसी है. उनादकट के इस परफॉर्मेंस के चलते दिल्ली पहले 10 ओवर में 4 विकेट गंवाकर सिर्फ 57 रन ही बना पाई थी. हालांकि अंतिम 10 ओवरों में उसने 90 रन जोड़कर अपना स्कोर 147 के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया.

इससे पहले वह पिछले सीजन 7 मैच खेलकर सिर्फ 4 विकेट ही अपने नाम कर पाए थे. उनादकट साल 2010 से इस लीग में खेल रहे हैं. यह उनका 81 वां मैच था और अब तक वह कुल 84 विकेट अपने नाम कर चुके हैं.

इस लीग में अब तक सबसे बेहतरीन प्रदर्शन उन्होंने साल 2017 में राइजिंग पुणे सुपरजायंट (RPS) के लिए किया था, तब उन्होंने 12 मैच खेलकर 24 विकेट अपने नाम किए थे. इसके बाद साल 2018 में उन्होंने 11 विकेट और 2019 में 10 विकेट अपने नाम किए. लेकिन पिछले सीजन में उन्होंने रॉयल्स को काफी निराश किया था.