Indian Premier League 2021: ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज मार्नस लाबुशेन (Marnus Labuschagne) ने स्वीकार किया कि इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) नीलामी में नजरअंदाज किया जाना भारत में Covid 19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए उनके लिये अप्रत्यक्ष कृपा साबित हुई. इस 26 वर्षीय बल्लेबाज को फरवरी में आईपीएल नीलामी में किसी भी फ्रेंचाइजी टीम ने नहीं खरीदा था. उन्होंने भारत में चल रही इस प्रतियोगिता में भाग ले रहे अपने देश के खिलाड़ियों को लेकर चिंता जतायी.Also Read - अगले तीन सालों पर शीर्ष स्तर का क्रिकेट खेलना चाहते हैं शिखर धवन, कहा- टी20 में काम आएगा मेरा अनुभव

लाबुशेन ने ‘पीए मीडिया’ से कहा, ‘‘मैं निश्चित तौर पर इसे (आईपीएल में नहीं खेलने को) अप्रत्यक्ष कृपा मानता हूं. मैं आईपीएल में खेलना पसंद करूंगा. यह शानदार टूर्नामेंट है लेकिन हमेशा सिक्के के दो पहलू होते हैं. यदि मैं आईपीएल में खेल रहा होता तो मैं देश से बाहर होता और (शैफील्ड) शील्ड जीतना ऐसी चीज है जो हमेशा संभव नहीं होता है.’’ Also Read - आईपीएल सीजन में सर्वाधिक कैच लेने वाले भारतीय बने रियान पराग, तोड़ा रवींद्र जडेजा का रिकॉर्ड

काउंटी क्रिकेट में ग्लेमोर्गन से जुड़ने वाले लाबुशेन ने कहा, ‘‘दूसरा अभी आप भारत की स्थिति को देखिये. यह बहत अच्छी नहीं दिख रही है.’’ भारत में कोविड-19 की स्थिति विकट बन रखी है तथा प्रत्येक दिन तीन लाख से अधिक मामले आ रहे हैं. ऑक्सीजन की आपूर्ति में कमी और कुछ अन्य महत्वपूर्ण दवाईयों के न मिलने से स्थिति और बिगड़ गयी है. ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने भारत में कोविड-19 की स्थिति देखते हुए भारत से 15 मई तक सभी यात्री उड़ानों को निलंबित कर दिया है. आईपीएल फाइनल 30 मई को अहमदाबाद में खेला जाना है. Also Read - क्या आज आखिरी बार येलो जर्सी में नजर आएंगे महेंद्र सिंह धोनी? फैंस ने कहा Definitely Not

लाबुशेन ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के अधिकतर खिलाड़ी आईपीएल के जैव सुरक्षित वातावरण (बायो बबल) में असुरक्षित महसूस नहीं कर रहे हैं लेकिन वे स्वदेश वापसी को लेकर चिंतित हैं. उन्होंने कहा, ‘‘निश्चित तौर पर आप उनकी भावनाओं को समझ सकते हो. लेकिन मैंने ऐसे बहुत से लोगों से बात नहीं की जो स्वयं को असुरक्षित समझ रहे हों. वे आस्ट्रेलिया लौटने को लेकर अधिक चिंतित हैं. उम्मीद है कि वे सुरक्षित रहेंगे और सकुशल आस्ट्रेलिया लौटेंगे.’’ (भाषा)