इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) का 13वां सीजन रद्द होने पर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को आर्थिक तौर पर बड़ा झटका लग सकता है। फिलहाल बीसीसीआई ने कोरोनावायरस महामारी के चलते आईपीएल के 13वें सीजन को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया है। लेकिन बोर्ड नया शेड्यूल तैयार करने पर विचार कर रहा है। Also Read - वर्क फ्रॉम होम: 'बॉस' रात में करते हैं VIDEO CALL, कम कपड़ों में करते हैं मीटिंग, परेशान हैं महिलाएं

दुनिया का सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई आईपीएल 2020 रद्द होने की स्थिति में 4,000 करोड़ रुपए का नुकसान झेलेगा। बोर्ड के राजस्व अधिकारी अरुण धूमल ने भी माना कि आईपीएल 2020 रद्द होने का मतलब होगा बड़ी वित्तीय मार। Also Read - कोरोना: दिल्ली में संक्रमण के मामले 20 हज़ार पार, मरने वालों की संख्या भी 500 से ज्यादा

धूमल ने कहा, “बीसीसीआई एक बहुत बड़े आर्थिक नुकसान की तरफ बढ़ रही है। अगर आईपीएल नहीं होता है तो बोर्ड को कम से कम 40 बिलियन का नुकसान होगा। हमें नहीं पता कि टूर्नामेंट इस साल हो पाएगा या नहीं।” Also Read - भारतीय क्रिकेटरों के लिए अभ्यास कैंप आयोजित करने पर काम कर रही है BCCI लेकिन समय सीमा अनिश्चित

बोर्ड पहले ही भारत-दक्षिण अफ्रीका के बीच मार्च में होने वाली वनडे सीरीज रद्द होने का नुकसान झेल रहा है लेकिन आईपीएल का रद्द होना बीसीसीआई के लिए तगड़ा झटका होगा।

धूमल ने आगे कहा, “हमें कितना राजस्व नुकसान होगा इसका पता हम तब ही लगा सकते हैं, जब ये साफ होगा कि हमने कितने मैच खो दिए।”

बता दें कि आईपीएल से बीसीसीआई को सालाना 11 बिलियन की कमाई होती है। डफ और फेल्प्स की वित्तीय कंसल्टेंसी के हिसाब से पिछले साल आईपीएल ब्रांड मूल्य 6.7 बिलियन डॉलर थी। भारतीय प्रसारक स्टार स्पोर्ट्स ने 2022 तक आईपीएल के टीवी अधिकारों के लिए 220 मिलियन डॉलर का भुगतान किया।