आईपीएल के एलिमिनेटर मैच में सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) को हराकर दूसरे क्वालीफायर में अपनी जगह पक्की कर ली है. सनराइजर्स की इस जीत के साथ बैंगलोर की टीम इस टूर्नामेंट में खिताब की रेस एक बार फिर बाहर हो गई. आरसीबी की टीम 13वीं बार भी इस खिताब पर कब्जा नहीं जमा पाई है. Also Read - विराट नहीं तो रोहित शर्मा को करनी चाहिए सभी फॉर्मेट में कप्तानी: माइकल क्लार्क

शुक्रवार को आबू धाबी में खेले गए इस मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद ने मैच की शुरुआत से ही उस पर दबाव बना दिया. आरसीबी की टीम यहां निर्धारित 20 ओवर में 7 विकेट गंवाकर सिर्फ 131 रन ही बना पाई. खेल के दूसरे हाफ में उसके गेंदबाजों ने मैच के अंतिम ओवर तक जीतने की कोशिश जरूर की लेकिन उसके हार जीत के फासले में केन विलियमसन आ गए. अब दूसरे क्वालीफायर में रविवार को सनराइजर्स का मुकाबला दिल्ली कैपिटल्स से होगा. इस मैच को जीतने वाली टीम खिताब के लिए मुंबई इंडियंस से भिड़ेगी. Also Read - India vs Australia virat kohli might have to bowl for few overs says tom moody

देखें सनराइर्स की इस शानदार जीत में ये 5 खिलाड़ी रहे सबसे खास Also Read - कुंबले-कोहली विवाद पर बोले रामचंद्र गुहा- कैप्टन को इतनी ताकत देना सही नहीं

सनराइजर्स के लिए पारस पत्थर साबित हुए जेसन होल्डर
इस सीजन जेसन होल्डर सनराइजर्स का हिस्सा नहीं थे. लेकिन मिशेल मार्श के चोटिल होने पर हैदराबाद ने उन्हें मौका दिया तो उनके हाथ जैसे पारस पत्थर लग गया. होल्डर के लिए यह टूर्नामेंट शानदार रहा है. आज के अहम मैच में उन्होंने विराट कोहली (6) और देवदत्त पडीक्कल (1) को शुरुआत में ही आउट कर रॉयल चैलेंजर्स को दबाव में ला दिया. होल्डर का बनाया दबाव ऐसा रहा कि RCB पूरी पारी में इससे निकल नहीं पाई. होल्डर ने बाद में शिवम दुबे (8) को भी अपना तीसरा शिकार बनाया. बैटिंग में होल्डर ने उपयोगी योगदान देते हुए 20 बॉल में 3 चौकों की मदद से 24 रन का योगदान दिया. होल्डर ने मैच के अंतिम ओवर में लगातार 2 चौके लगाकर आरसीबी को इस मैच से ही नहीं बल्कि टूर्नामेंट से ही बाहर कर दिया.

टी. नटराजन ने किया डीविलियर्स का बड़ा शिकार
थंगारसु नटराजन ने इस सीजन मैच दर मैच अपनी उपयोगिता साबित की है. आज के मैच में सनराइजर्स की मेहनत पर दिग्गज बल्लेबाज एबी डीविलियर्स पानी फेरते नजर आ रहे थे. डीविलियर्स सूझबूझ से खेलते हुए मुश्किल में फंसी अपनी टीम को सम्मानजनक स्कोर तक तो ले आए थे लेकिन जब अंतिम ओवरों में उनके विस्फोटक होने का टाइम आया तो इस 29 वर्षीय युवा तेज गेंदबाज ने उन्हें 56 के स्कोर पर अपनी सटीक यॉर्कर पर बोल्ड कर दिया. इससे पहले उन्होंने वॉशिंग्टन सुंदर (8) को भी अपना शिकार बनाया था.

शाहबाज नदीम ने पनपने नहीं दी फिंच-डीविलियर्स की साझेदारी
जल्दी-जल्दी दो विकेट (15/2) गंवाने के बाद एरॉन फिंच (32) एबी डीविलियर्स के साथ रॉयल की पारी को संभालते दिख रहे थे. दोनों बल्लेबाजों ने 41 रन की साझेदारी निभा भी ली थी. अगर ये दोनों बल्लेबाज टिक जाते तो हैदराबाद के हाथ से बाजी निकल सकती थी लेकिन नदीम ने फिंच को आउट कर इस साझेदारी को सही समय पर तोड़ दिया. इसके अलावा इस ओवर में मोइन अली (0) भी रन आउट हो गए. नदीम की एक फ्री हिट गेंद के मौके पर राशिद खान के सटीक थ्रो ने मोइन को रन आउट कर पवेलियन भेज दिया.

केन विलियमसन ने झोंका अनुभव, दिलाई शानदार जीत
अनुभवी बल्लेबाज केन विलियमसन जब क्रीज पर आए तब सनराइजर्स की टीम सुरक्षित माहौल में नहीं थी. नंबर 4 पर खेलने आए विलियमसन पावरप्ले में ही एंट्री कर चुके थे. यहां से वह अंत तक क्रीज पर खड़े रहे औ धैर्य के साथ पारी को बनाने का शानदार काम किया. दूसरे छोर से मनीष पांडे (24) और प्रियम गर्ग (7) उनका साथ छोड़ गए. लेकिन विलियमसन ने पहले पारी को संवारा और फिर अंत में जब तेजी से रन बनाने का समय आया तो उसे भी बखूबी निभाया. उन्होंने 44 गेंद की अपनी पारी में 2 चौके और 2 छक्के लगाकर नाबाद 50 रन बनाए. विलियमसन को उनकी शानदार पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया.

मनीष पांडे ने भी खेली छोटी मगर उपयोगी पारी
मोहम्मद सिराज ने पहले ही ओवर में श्रीवत्स गोस्वामी को आउट कर पांडे को पहले ही ओवर में बैटिंग पर ला दिया. सिराज अब डेविड वॉर्नर पर भी दबाव बना रहे थे. लेकिन दूसरे छोर से मनीष पांडे ने टीम को दबाव मुक्त रखने की कोशिश की. पांडे ने 21 गेंदों पर 3 चौके और 1 छक्के की मदद से 24 रन बनाए.