चेन्नई। आईपीएल में चेन्नई की टीम को दो बडे़ झटके लगे हैं. हालांकि उसका दमदार प्रदर्शन बदस्तूर जारी है. चेन्नई को पहला झटका केदार जाधव के रूप में लगा जो चोटिल होकर टूर्नामेंट से बाहर हो गए. इसके बाद खबर आई कि द. अफ्रीकी खिलाड़ी फाफ डू प्लेसिस भी चोट के चलते खेल नहीं पाएंगे. लेकिन चेन्नई ने इससे उबरकर आगे बढ़ने का फैसला लिया है. Also Read - मुंबई में ACP की पोस्‍ट पर रहते हुए महिला ASI से रेप करने के आरोप में Deputy SP पर केस दर्ज

Also Read - मुंबई में NCB की बड़ी कार्रवाई, दाऊद से जुड़े ड्रग्स फैक्ट्री का भंडाफोड़, 12 किलोग्राम से ज्यादा मादक पदार्थ किया बरामद

इंग्लैंड के हरफनमौला डेविड विली को घायल केदार जाधव की जगह इस साल चेन्नई की टीम में शामिल किया गया है. आईपीएल ने एक मीडिया विज्ञप्ति में यह जानकारी दी. जाधव मुंबई इंडियंस के खिलाफ पहले मैच में लगी हैमस्ट्रिंग चोट के कारण पूरे सत्र में नहीं खेल सकेंगे. Also Read - Bombay High Court से एक्‍टर सोनू सूद को बड़ा झटका, BMC के खिलाफ याचिका खारिज

IPL 2018 : 2 मैच, 1 टारगेट, 1 अंजाम... बदला तो बस चेन्नई की जीत का हीरो

IPL 2018 : 2 मैच, 1 टारगेट, 1 अंजाम... बदला तो बस चेन्नई की जीत का हीरो

टीम के बल्लेबाजी कोच माइक हस्सी ने कहा कि जाधव को खोना बड़ा झटका है. अब तक 34 वनडे और 20 टी20 मैच खेल चुके विली यॉर्कशर के लिए काउंटी क्रिकेट खेलते हैं. वह इस साल आईपीएल खेलने वाले इंग्लैंड के 12वें क्रिकेटर हैं. चेन्नई को अगला मैच 15 अप्रैल को किंग्स इलेवन पंजाब से मोहाली में खेलना है.

केदार जाधव ने मुंबई के खिलाफ पहले मुकाबले में चेन्नई की जीत में अहम भूमिका निभाई थी. घायल होने के बावजूद वह आखिरी विकेट के रूप में मैदान पर उतरे और आखिरी ओवर में छक्का जमाकर टीम को जीत दिला दी. जाधव का चोटिल होकर बाहर बैठना टीम के लिए बड़ा झटका है. जाधव अपनी आतिशी बल्लेबाजी से टीम इंडिया को भी कई बार मैच जीता चुके हैं. ऐसे में उनकी गैरमौजूदगी चेन्नई के लिए नुकसान की वजह बन गई है.