इंग्लिश खिलाड़ी सैम बिलिंग्स (Sam Billings) का मानना है कि इंग्लैंड की वनडे टीम काफी मजबूत है लेकिन कहा कि भारत में आगामी दो विश्व कप में खेलने के लिए इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के अनुभव से उन्हें काफी फायदा होगा। भारत 2021 में टी20 विश्व कप और 2023 में 50 ओवर के विश्व कप की मेजबानी करेगा। बिलिंग्स का मानना है कि उनकी स्पिन को बखूबी खेलने की काबिलियत से वह अच्छी स्थिति में होंगे। Also Read - IPL 2020 : MS Dhoni की अगुआई में CSK के खिलाड़ी कंडीशनिंग कैंप के लिए चेन्नई पहुंचे

इंडियन प्रीमियर लीग में चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) और दिल्ली कैपिटल्स (DC) के लिए खेल चुके बिलिंग्स ने ‘स्काईस्पोर्ट्स’ से कहा, ‘‘मुझे लगता है कि ये निश्चित रूप से ऐसी चीज है जिससे मैं अन्य खिलाड़ियों की तुलना में थोड़ा बेहतर हो सकता हूं। स्पिन के खिलाफ मेरे खेल में मुझे विभिन्न फ्रेंचाइजी के अनुभवों से फायदा मिला, विशेषकर आईपीएल में।’’ Also Read - IPL 2020: किंग्स इलेवन पंजाब के साथ बतौर नेट गेंदबाज यूएई जा सकते हैं विदर्भ के दो युवा तेज गेंदबाज

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे चेन्नई और दिल्ली में टर्निंग पिचों पर सफलता मिली। मुझे इस पर काम करते रहना होगा। वनडे प्रारूप हो या फिर टेस्ट मैच, उपमहाद्वीप में मुझे लगता है कि मैं अच्छा कर सकता हूं। अगर मुझे मौका मिलता है तो मैं लंबे प्रारूप में अच्छा करना चाहूंगा।” Also Read - करुण नायर को कोविड-19 नहीं केवल हल्का बुखार था: KXIP के सीईओ

29 साल के खिलाड़ी ने 16 वनडे और 26 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। लेकिन 2015 से डेब्यू करने के बाद वो इंग्लैंड की टीम में नियमित नहीं हो पाये हैं लेकिन जब आयरलैंड के खिलाफ अंतिम एकादश में उन्हें शामिल किया गया तो उन्होंने इसका पूरा फायदा उठाया।