नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) फ्रेंचाइजी राजस्थान रॉयल्स के मालिक 12वें सीजन की शुरुआत से पहले अपनी आधी हिस्‍सेदारी बेचने की तैयारी में हैं. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अपनी टीम को वित्तीय मजबूती देने के लिए फ्रेंचाइजी अपनी हिस्सेदारी का आधा हिस्सा बेचने को तैयार हैं. Also Read - MS Dhoni के बारे मे सीमा पार से आया ये जवाब, फैंस भी हो जाएंगे गदगद

Also Read - BBL 2020-21,Melbourne Stars vs Hobart Hurricanes: दिल्ली कैपिटल्स की ओर से IPL 2020 में जलवा बिखेर चुके इस कंगारू खिलाड़ी ने अब बीबीएल में खेली धांसू पारी

फ्रेंचाइजी के मौजूदा मालिकों ने बीसीसीआई के प्रमुख अधिकारियों से संपर्क किया है और अपनी 50 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने के फैसले से अवगत कराया है. मनोज बडाले राजस्थान रॉयल्स के मूल मालिक हैं. टीम के अन्‍य हिस्‍सेदारों में लैचलन मर्डोक, आदित्‍य एस चेलाराम और सुरेश चेलाराम शामिल हैं. Also Read - SA vs SL 2nd Test Day 1: श्रीलंकाई बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे IPL 2020 में सबसे तेज गेंद डालने वाले Anrich Nortje

पांड्या-राहुल को दोबारा मौका देने के पक्ष में हैं सौरव गांगुली, कहा- गलतियां सबसे होती हैं

बीसीसीआई के वरिष्ठ अधिकारी ने नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा, ‘‘हां, राजस्थान रॉयल्स अपनी हिस्सेदारी का बड़ा हिस्सा बेच रहा है और सबसे ज्यादा बोली लगाने वालों को ही यह मिलेगा. हमने सुना है कि यह करीब 50 प्रतिशत होगा और देश के कुछ बड़े व्यावसायिक घराने इस हिस्सेदारी को खरीदने के इच्छुक दिख रहे हैं.’’

तीसरे वनडे के लिए ऑस्‍ट्रेलिया ने घोषित की प्‍लेइंग इलेवन, पिछला मैच खेले ये दो खिलाड़ी बाहर

अभी कुछ भी पुष्ट नहीं है, लेकिन आईपीएल फ्रेंचाइजी राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स के पूर्व मालिक संजीव गोयनका इस हिस्सेदारी को खरीदने के इच्छुक हैं. हालांकि उनसे बात नहीं हो सकी है. हालांकि, हिस्‍सेदारों के बीच मतभेदों के चलते राजस्‍थान रॉयल्‍स पहले भी विवादों में रही है. इन्‍हीं कारणों से टीम को 2010 में आईपीएल से निलंबित भी होना पड़ा था. इसे लीग की शुरुआत होने पर सबसे कम खर्चीली टीम बताया गया था.