विश्व क्रिकेट की सबसे मशहूर लीग में से एक भारत की इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) अगले सीजन के लिए कई बड़े बदलाव करने पर विचार कर रही है। हालांकि आईपीएल समिति ने मैच के दौरान ‘पावर प्लेयर’ खिलाने के नियम को लागू ना करने का फैसला किया है लेकिन समिति की योजना अगले सीजन से ‘नो-बॉल’ के लिए विशेष अंपायर रखने की सोच रही है।

‘पावरप्लेयर’ सब्स्टीट्यूशन ना शुरू कर पाने का कारण है इस सप्ताह के आखिर में शुरू हो रही सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी राष्ट्रीय टी20 चैंपियनशिप में इसका ट्रॉयल नहीं हो पाना।

पूर्व टेस्ट बल्लेबाज बृजेश पटेल की अध्यक्षता में हुई बैठक में एफटीपी विंडो, विदेशी खिलाड़ियों की उपलब्धता, भारतीय टीम का एफटीपी और फ्रेंचाइजी के विदेश में दोस्ताना मैच खेलने की संभावनाओं पर बात हुई।

IPL 2020 का स्‍टेज तैयार, 19 दिसंबर को होगा ऑक्‍शन, जानें किस टीम के पास कितना पैसा

संचालन परिषद के एक सदस्य ने पत्रकारों से कहा, ‘‘सब कुछ ठीक रहा तो अगले आईपीएल में नियमित अंपायरों के अलावा नोबाल के लिए एक विशेष अंपायर होगा। आईपीएल संचालन परिषद की पहली बैठक में इस पर बात हुई है।’’

पिछले आईपीएल में नोबाल के कई फैसलों पर विवाद हुआ था। भारतीय कप्तान विराट कोहली की भारतीय अंपायर एस रवि से बहस भी हो गई थी जो एक आईपीएल मैच के दौरान मुंबई इंडियंस के लसिथ मलिंगा की नोबाल नहीं पकड़ सके जिससे रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर वो मैच हार गई।

पावर प्लेयर के बारे में अधिकारी ने कहा, ‘‘इस पर बात की गई लेकिन सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में इस प्रयोग के लिए अब समय नहीं बचा है।’’