नई दिल्ली. अगले साल होने वाले फटाफट क्रिकेट के टूर्नामेंट आईपीएल की तैयारियां शुरू हो गई हैं. इसी महीने इस टूर्नामेंट के लिए खिलाड़ियों की नीलामी प्रक्रिया संपन्न होगी. इस बार के आईपीएल में खास बात यह है कि अगर मार्च-अप्रैल में होने वाले लोकसभा चुनावों के कार्यक्रम से इसकी तारीखें टकराएंगी, तो टूर्नामेंट के कुछ मैच देश के बाहर भी कराए जा सकते हैं. इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2019 से पहले खिलाड़ियों की नीलामी 18 दिसंबर को जयपुर में होगी. बीसीसीआई (BCCI) ने सोमवार को यह घोषणा की.

यह नीलामी एक दिन की होगी. इसके आयोजन स्थल में भी बदलाव किया गया है और यह बेंगलुरू की जगह जयपुर में होगी. सिर्फ 70 खिलाड़ियों को नीलामी में जगह दी गई है जिसमें 50 भारतीय और 20 विदेशी खिलाड़ी शामिल हैं. आठ टीमों के पास नीलामी में बोली लगाने के लिए कुल 145 करोड़ 25 लाख रुपए की राशि है. नीलामी से पूर्व पिछले महीने टीमों ने रिटेन किए हुए खिलाड़ियों के नामों की घोषणा की और इस दौरान कुछ बड़े नामों को रिलीज किया. किंग्स इलेवन पंजाब ने युवराज सिंह जबकि दिल्ली डेयरडेविल्स ने गौतम गंभीर को रिलीज किया. वर्ष 2018 सत्र की नीलामी में जयदेव उनादकट के लिए 11 करोड़ 50 लाख रुपए की बोली लगाने के बाद राजस्थान रायल्स ने इस तेज गेंदबाजी को रिलीज कर दिया है.

सनराइजर्स हैदराबाद ने चोटिल भारतीय विकेटकीपर रिद्धिमान साहा और वेस्टइंडीज के टी20 कप्तान कार्लोस ब्रेथवेट को टीम में बरकरार नहीं रखा. मुंबई इंडियन्स ने भी जेपी डुमिनी, पैट कमिंस और मुस्तफिजुर रहमान जैसे शीर्ष अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों को टीम में जगह नहीं दी. आईपीएल-2019 से जुड़ी मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक यूं तो टूर्नामेंट के मैच भारत में ही खेले जाएंगे. लेकिन अगर आम चुनावों के साथ टूर्नामेंट के तारीखों का टकराव होता है, तो 2019 आईपीएल के कुछ हिस्से या पूरे टूर्नामेंट का आयोजन भारत के बाहर भी कराया जा सकता है. बता दें कि इससे पहले भी एक बार आईपीएल का आयोजन देश के बाहर कराया जा चुका है.