भारत में क्रिकेट को फैन्‍स धर्म की तरह का दर्जा देते हैं. यही वजह है कि बड़े मैचों के दौरान फैन्‍स पूजा पाठ व हवन करते भी नजर आते हैं. लोगों के क्रिकेट को लेकर इस क्रेज के चलते ही बीसीसीआई को दुनिया का सबसे धन क्रिकेट बोर्ड समझा जाता है, लेकिन क्रिकेट खेलने वाले कुछ देश ऐसे भी हैं जो अब भी बेहद खराब आर्थिक स्थिति से जूझ रहे हैं.

पढ़ें:- भारत के खिलाफ वनडे सीरीज में मार्नस लाबुशाने को मौका

खराब आर्थिक स्थिति से जूझ रहे आयरलैंड क्रिकेट बोर्ड ने 2020 के भविष्य दौरा कार्यक्रम में बदलाव करते हुए अफगानिस्तान के खिलाफ पांच मैचों की घरेलू टी20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज को रद्द कर दिया है जबकि बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट मैच को टी20 अंतरराष्ट्रीय में बदल दिया.

आयरलैंड और अफगानिस्‍तान को जून 2017 में टेस्ट खेलने का अधिकार मिला था. क्रिकेट आयरलैंड के मुख्य कार्यकारी वारेन डेट्रोम ने कहा कि बोर्ड की वित्तीय स्थिति में उतना सुधार नहीं हुआ है, जितना कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के पूर्ण सदस्य बनने के बाद उम्मीद थी.

डेट्रोम ने कहा, ‘‘ हम टेस्ट क्रिकेट के लिए अपने दृष्टिकोण में बहुत सावधानी बरत रहे हैं और यह समझते हैं कि यह खेल के लंबे प्रारूप में एक प्रतिस्पर्धी टीम बनाने के लिए दीर्घकालिक योजना चाहिए. हमें नियमित रूप से टेस्ट खेलने से पहले खुद को आर्थिक रूप से निर्भर बनाने के लिए बुनियादी ढांचे में महत्वपूर्ण निवेश की जरूरत है.’’

पढ़ें:- कीवी गेंदबाजों की बाउंसर्स ने ऑस्‍ट्रेलियाई बल्‍लेबाजों को किया परेशान, नाथन लियोन बोले

उन्होंने कहा, ‘ दुर्भाग्य से, इस आर्थिक स्थिति ने हमें अगले साल घरेलू टेस्ट मैच में कटौती करने के लिए प्रेरित किया है. यह एक मैच की सीरीज है जो विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप का हिस्सा नहीं होगा. इसलिए इसका बहुत औचित्य नहीं बचता है.’’