कोरोना वायरस की बाद शुरू होने वाले क्रिकेट के खेल में कई नियम नए होंगे, जिसमें एक सबसे अहम और विवादास्पद नियम है गेंद पर सलाइवा के इस्तेमाल पर बैन। कई पूर्व दिग्गज और क्रिकेट समीक्षकों का कहना है कि ऐसा करने से खेल बल्लेबाजों के पक्ष में और भी ज्यादा झुक जाएगा। अब टीम इंडिया के सीनियर तेज गेंदबाज इशांत शर्मा (Ishant Sharma) ने भी सलाइवा बैन का विरोध किया है। Also Read - भारतीय तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने बताया क्यों सलाइवा का विकल्प नहीं बन सकता है पसीना

स्टार स्पोर्टस के शो पर इशांत ने कहा, “मुझे लगता है कि सबसे अहम चीज सलाइवा का उपयोग करने से बचना और गेंद को चमकाने से बचना होगा। हमें इसके लिए खास सावधानियां बरतनी पड़ेंगी क्योंकि हम गेंद को चमकाने के आदी होते हैं, खासकर लाल गेंद को।” Also Read - जब मैं और धोनी रूममेट थे तो हमेशा उनके लंबे बालों के बारे में बात करते थे: गंभीर

उन्होंने कहा, “अगर हम गेंद को चमकाएंगे नहीं तो ये स्विंग नहीं होगी और अगर गेंद स्विंग नहीं होगी तो बल्लेबाजों के लिए ये आसान हो जाएगा। मुझे लगता है कि प्रतिस्पर्धा समान होनी चाहिए और खेल में बल्लेबाजों का दबदबा नहीं होना चाहिए।” Also Read - साउथम्पटन टेस्ट: जैक क्राउली के अर्धशतक की मदद से इंग्लैंड ने हासिल की 170 रनों की बढ़त

आईसीसी के नए नियमों के मुताबिक खिलाड़ी गेंद को चमकाने के लिए सलाइवा का उपयोग नहीं कर सकेंगे। शुरुआत में अगर खिलाड़ी ऐसा करता है तो अंपायर चेतावनी देकर छोड़ देंगे लेकिन बार-बार ऐसा करने पर टीम पर पांच रनों की पेनाल्टी लगाई जाएगी।