गोवा. हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के चौथे सीजन में शनिवार को एफसी गोवा और केरला ब्लास्टर्स टीमें जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में आमने-सामने होंगी. ब्लास्टर्स के लिए यह मैच एक कड़ी चुनौती है क्योंकि उसका अभी तक का प्रदर्शन बेहद ही निराशाजनक रहा है. उसका सामना अब एक ऐसी टीम से होगा जो आत्मविश्वास से भरी हुई है.

दोनों टीमों के बीच फर्क यह है कि गोवा ने जहां 3 में से 2 मैचों में जीत हासिल की वहीं ब्लास्टर्स इस सीजन में अपने घर में अब तक 3 मुकाबले खेलने के बावजूद जीत से महरूम हैं. इतिहास की बात की जाए तो दोनों के बीच अब तक कुल 6 मुकाबले हुए हैं, दोनों ने 3-3 में जीत हासिल की है. गोवा की टीम ने अपने पिछले मैच में बेंगलुरू एफसी को 4-3 से हराया था जबकि ब्लास्टर्स को मुम्बई सिटी के खिलाफ ड्रॉ खेलना पड़ा था.

जहां तक ब्लास्टर्स की बात है तो उसके कोच रेने मुएलेंस्टीन इस बात को लेकर खुश होंगे कि उनकी टीम ने मुम्बई के खिलाफ अपने गोल का सूखा खत्म कर दिया था लेकिन अब उनकी नजर 3 अंकों पर होगी. आंकड़े कहते हैं कि गोवा ने अधिक पास दिए हैं और काफी सटीकता से दिए हैं. उसने अधिक शॉट्स लगाए हैं और गोल करने के अधिक मौके बनाए हैं. साथ ही इस टीम ने अधिक टैकल किए हैं और अधिक इंटरसैप्शन भी किए हैं.

ब्लास्टर्स की बात करें तो वे काउंटर आक्रमण के दौरान वे अधिक खतरनाक होते हैं और दबाव मे बिखरते नहीं हैं. साथ ही ब्लास्टर्स एरियल स्टैंथ में भी आगे हैं. ब्लास्टर्स ने अब तक 31 एरियल डुअल्स जीते हैं, जबकि गोवा की टीम ने सिर्फ 9 में जीत हासिल कर सकी है. सीके विनीत, इयान ह्यूम, बेर्बातोव और करेज पेकुसन के रहते ब्लास्टर्स आसानी से हथियार नहीं डालेंगे और गोवा के डिफेंस को हमेशा चौकस रहना होगा. गोवा ने भले ही 8 गोल किए हैं लेकिन उसने 7 गोल खाए भी हैं. दूसरी ओर, ब्लास्टर्स ने 3 मैचों में 1 गोल किया है और खाया भी 1 ही है. ऐसे में दो विभिन्न शैली वाली टीमों के बीच एक रोमांचक मुकाबला दर्शकों को देखने को मिलेगा.