मुम्बई, 15 सितम्बर – भारतीय फुटबाल टीम के पूर्व कप्तान बाएचुंग भूटिया ने कहा है कि इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) और आई-लीग को एक टूर्नामेंट के रूप में तब्दील करने का यह सही वक्त नहीं है। यह भी पढ़ें –आईएसएल, आई-लीग के विलय से इंकार नहीं : एआईएफएफAlso Read - ATK-मोहन बागान के सह मालिक सौरव गांगुली डायरेक्टर के रूप में नामित

Also Read - सचिन तेंदुलकर से प्रेरणा लेते हैं भारतीय फुटबॉलर संदेश झिंगन

भूटिया ने कहा कि अभी इन दो टूर्नामेंट का मर्जर फुटबाल के विकास के लिहाज से सही नहीं होगा। भारत के लिए 40 गोल कर चुके भूटिया के मुताबिक पहले आई-लीग के स्तर को आईएसएल की बराबरी तक ले जाना होगा और फिर जाकर इनका मर्जर करना चाहिए। Also Read - ISL 2019-20 FINAL: तीसरी बार ISL खिताब जीतने वाला पहला क्लब बना ATK, मिला एएफसी कप का टिकट

उल्लेखनीय है कि अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ ने हाल ही में दोनों लीगों एक करने की इच्छा जाहिर की थी।