ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान टिम पेन (Tim Paine) ने कहा है कि ऑस्ट्रेलिया को टीम में भारत की तरह गहराई बनानी होगी ताकि उसके शीर्ष खिलाड़ियों को आराम देकर तरोताजा रखा जा सके।Also Read - Sri Lanka vs India, 3rd T20I: भारतीय टीम को एक और झटका, तेज गेंदबाज Navdeep Saini निर्णायक मैच से बाहर!

भारत के शीर्ष क्रिकेटर विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल खेलने के लिए इंग्लैंड में हैं जो बाद में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज भी खेलेंगे। वहीं भारत ने श्रीलंका में सीमित ओवरों की सीरीज के लिए एक अलग 20 सदस्यीय टीम की घोषणा की है। इस बीच ऑस्ट्रेलिया के शीर्ष क्रिकेटर वेस्टइंडीज के आगामी दौरे से बाहर रह सकते हैं। Also Read - Sri Lanka vs India, 2nd T20I: विकेट झटकने के बाद Rahul Chahar ने खो दिया आपा, श्रीलंकाई बल्लेबाज ने इस तरह दिया जवाब

पेन का मानना है कि ऑस्ट्रेलिया को ऐसे युवाओं की जरूरत है जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अच्छा प्रदर्शन करके सीनियर खिलाड़ियों का कार्यभार कम कर सके। उन्होंने ‘सिडनी मार्निंग हेराल्ड’ से कहा, ‘‘ये जरूरी है कि हम अपनी टीम में ऐसी गहराई पैदा करें ताकि खिलाड़ियों को समय समय पर आराम दिया जा सके।’’ Also Read - West Indies vs Australia: कोच Justin Langer ने की जमकर तारीफ, Mitchell Starc को बताया 'सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज'

उन्होंने कहा, ‘‘इस समय भारतीय टीम ऐसा ही कर रही है। उनके पास टेस्ट क्रिकेट के लिए प्रतिभाओं की कमी नहीं है और संतुलन एकदम सही है। हमें भी उनका अनुकरण करना होगा ताकि अपने सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को आराम दे सके और अगली बार खेलने पर वे तरोताजा रहें।’’

ऑस्ट्रेलिया को सीमित ओवरों के लिए वेस्टइंडीज का दौरा करना है और उसके बाद बांग्लादेश में टी20 सीरीज खेलनी है। आईपीएल सितंबर में यूएई में बहाल होना तय है जिसके बाद अक्टूबर नवंबर में टी20 विश्व कप है। ऑस्ट्रेलिया को नवंबर में अफगानिस्तान के खिलाफ एक टेस्ट और आठ दिसंबर से एशेज सीरीज खेलनी है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार स्टीव स्मिथ, डेविड वॉर्नर, पैट कमिंस, ग्लेन मैक्सवेल, मार्कस स्टोइनिस, झाय रिचर्डसन, केन रिचर्डसन वेस्टइंडीज दौरे से बाहर रह सकते हैं।

पेन ने कहा कि इन खिलाड़ियों को समर्थन की जरूरत है। उन्होंने कहा, ‘‘ये एक मसला है । मैं नहीं जानता कि कौन दौरे से बाहर रहेगा लेकिन आधुनिक समय में यह एक चुनौती है । कुछ पूर्व खिलाड़ी और कमेंटेटर इस पर टिप्पणी कर रहे हैं जो अनुचित है । आप उनकी जगह खुद को रखकर देखें जो दौरे से आते हैं और फिर होटल में दो सप्ताह पृथकवास पर रहते हैं । यह काफी थकाऊ है । हमारे कई खिलाड़ी छह सात बार ऐसा कर चुके हैं ।’’