दुनिया के महान ऑलराउंडर कपिल देव (Kapil Dev) ने पूर्व भारतीय कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) को सलाह दी है कि अगर वह आईपीएल में खेलते रहना चाहते हैं तो उन्हें घरेलू क्रिकेट में भी हिस्सा लेना चाहिए, ताकि उनका शरीर क्रिकेट खेलने के लिए जरूरी लय में रह सके। कपिल ने यह भी कहा कि अगर कैप्टन कूल (MS Dhoni in IPL) सिर्फ आईपीएल में ही खेलना चाहेंगे तो उनके लिए अच्छा प्रदर्शन करना मुश्किल ही नहीं ‘असंभव’ होगा. Also Read - WATCH: दुबई में मस्ती कर रहा है धोनी परिवार; पत्नी साक्षी और बेटी जीवा के साथ नाचते दिखे माही

धोनी ने आखिरी बार कोई क्रिकेट मैच वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल में खेला था. इसके बाद धोनी को चयनकर्ताओं ने किसी भी सीरीज के लिए टीम इंडिया में नहीं चुना और इस साल 15 अगस्त को उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट से अपने संन्यास की घोषणा कर दी. एक साल से ज्यादा समय बाद आईपीएल के जरिए क्रिकेट मैदान पर लौटे धोनी इस सीजन कोई खास प्रदर्शन नहीं कर पाए. Also Read - KL Rahul का दावा, Marnus Labuschagne नहीं बना पाएंगे भारत के खिलाफ ज्‍यादा रन, बताई ये वजह

इस सीजन उनकी टीम लीग स्टेज से ही बाहर हो गई. सीएसके लिए यह पहला मौका है, जब वह प्लेऑफ से पहले टूर्नामेंट से बाहर हो गई. धोनी ने इस सीजन 14 मैचों में 116 के स्ट्राइक रेट से सिर्फ 200 रन ही बनाए, जबकि इस दौरान उनके बल्ले से कोई फिफ्टी नहीं निकली. Also Read - IND vs AUS, 1st ODI: मैच से दो दिन पहले भी एकजुट होकर तैयारी नहीं कर पा रहे कंगारू खिलाड़ी, Matthew Wade ने बताई परेशानी

बता दें कपिल देव ने हाल ही में दिल का दौरा पड़ने के बाद एंजियोप्लास्टी कराई है. उन्होंने ने ‘एबीपी न्यूज’ से धोनी के प्रदर्शन पर चर्चा करते हुए कहा, ‘अगर धोनी सिर्फ और सिर्फ आईपीएल में खेलने का फैसला करते हैं तो उनके लिए अच्छा प्रदर्शन करना असंभव होगा. उम्र की बात करना सही नहीं है लेकिन इस उम्र (39 साल) में धोनी जितना अधिक खेलेंगे, उतना ही ज्यादा वह लय में रहेंगे.’

61 वर्षीय इस पूर्व कप्तान ने कहा, ‘अगर साल में आप 10 महीने क्रिकेट नहीं खेलोगे तो आप देख सकते हो कि क्या होगा। इतना क्रिकेट खेलने पर किसी सत्र में उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। क्रिस गेल जैसे खिलाड़ी के साथ भी यह हुआ है.’ कपिल ने धोनी को सलाह दी की उन्हें घरेलू क्रिकेट में हिस्सा लेना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘उन्हें (धोनी) फर्स्ट क्लास क्रिकेट (घरेलू लिस्ट ए और टी20) में जाकर वहां खेलना चाहिए.’