न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के कप्तान केन विलियमसन अभी तक यह नहीं समझ पाए हैं कि पिछले साल विश्व कप 2019 फाइनल में इंग्लैंड के हाथों नाटकीय ढंग से मिली हार को वह करियर की उपलब्धियों में गिने या नाकामियों में. Also Read - ICC पर भड़के शोएब अख्‍तर, बोले- पिछले 10 सालों में टेस्‍ट क्रिकेट को किया बर्बाद

पिछले साल विश्व कप फाइनल में निर्धारित ओवरों और सुपर ओवर के बाद भी मैच टाई रहने के बाद चौकों छक्कों की गिनती के आधार पर इंग्लैंड को विजयी घोषित किया गया था. Also Read - अभी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के बारे में नहीं सोच सकते: गेंदबाजी कोच भरत अरुण

विलियम्सन ने क्रिकबज वेबसाइट पर हर्षा भोगले के साथ बातचीत में कहा, ‘वो अच्छा समय था या बुरा इस बात को पहचानने में थोड़ा समय लगेगा. मैं अभी भी इस बात का पता लगा रहा हूं कि वो क्या था.’ Also Read - गेंद पर थूक लगाने पर बैन बॉलर्स के लिए करारा झटका होगा, ICC गेंदबाजों के अनुकूल पिचें बनवाए'

उन्होंने कहा, ‘हमें फल नहीं मिला लेकिन वो मैच बहुत शानदार था, लेकिन समझने के लिए काफी मुश्किल और इससे बाहर निकलने के लिए भी क्योंकि आप उस खेल का हिस्सा थे.’

कीवी टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 8 विकेट पर 241 रन बनाए थे 

न्यूजीलैंड ने उस मैच में पहले बल्लेबाजी की और 8 विकेट के नुकसान पर 241 रन बनाए. लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड की बल्लेबाजी बिखर गई लेकिन बेन स्टोक्स ने टीम को बराबरी के स्कोर पर पहुंचा दिया.

मैच सुपर ओवर में गया. इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 15 रन बनाए और न्यूजीलैंड की टीम भी 15 रन ही बना सकी, लेकिन मैच में ज्यादा बाउंड्री मारने के कारण इंग्लैंड को विजेता घोषित कर दिया गया.

कीवी टीम के कप्तान ने कहा, ‘हर मैच में कुछ ऐसी चीजें होती हैं जिन पर आप का नियंत्रण होता.’