जकार्ता: एशियाई खेलों में भारत के उप मिशन प्रमुख आर के सचेती इंडोनेशिया में इन खेलों के समापन के बाद विमान की बिजनेस क्लास में यात्रा कर स्वदेश लौटे जबकि खिलाड़ियों को यहां से इकोनॉमी क्लास में भेजा गया. जकार्ता से सिंगापुर जाने वाली विमान संख्या एसक्यू 967 से यात्रा कर रहे भारतीय वॉलीबाल दल के एक सदस्य ने बताया कि ज्यादातर भारतीय खिलाड़ी इकोनॉमी क्लास में यात्रा करते है और उन्हें तब तक इससे कोई परेशानी नहीं है जब तक अधिकारी भी ऐसा करें. Also Read - India vs Australia: रोहित-पंत विवाद से पहले टीम इंडिया ने दो और बार तोड़ा था कोविड प्रोटोकॉल

Also Read - अगले साल 8 फरवरी से शुरू हो सकता है ऑस्ट्रेलियन ओपन 2021

एशियन गेम्स 2018: भारत प्रणब रहे गोल्ड मेडल जीतने वाले सबसे उम्रदराज खिलाड़ी Also Read - IPL 2020: किसके हाथ लगा इमर्जिंग प्लेयर का खिताब, कौन बना 13वें सीजन का MVP

दल के सदस्य ने कहा कि ‘हम उनके कारण यहां नहीं है, वे यहां हमारे कारण यहां हैं. मुझे इकोनॉमी क्लास में यात्रा करने में कोई परेशानी नहीं है, लेकिन इन अधिकारियों को भी हमारी जैसी सीटें मिलनी चाहिए ना कि हमसे बेहतर.’ सचेती ने हालांकि बचाव में कहा कि उन्होंने अपने एयर माइल्स का इस्तेमाल कर बिजनेस क्लास में यात्रा की.

Asian games 2018 में भारत का रिपोर्ट कार्ड: 69 पदक जीत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के साथ खत्म हुआ अभियान

भारतीय मुक्केबाजी संघ के इस शीर्ष अधिकारी ने कहा कि हमें भी इकोनॉमी क्लास में ही यात्रा करना था लेकिन मैंने अपने एयर माइल्स का इस्तेमाल कर उसे अपग्रेड किया. खेल मंत्रालय ने भी इस विवादित अधिकारी के उप मिशन प्रमुख के तौर पर मौजूदगी पर सवाल उठाया था लेकिन भारतीय ओलंपिक संघ ने उन्हें अपने खर्चे पर भेजा था.