कोविड-19 महामारी के चलते क्रिकेट की सभी गतिविधियां ठप्प हैं. दुनिया भर में कई देशों में लॉकडाउन घोषित है. खिलाड़ी भी अपने घरों में कैद हैं. हालांकि कई खिलाड़ियों को कहना है कि कोरोनावायरस के बाद यदि खेल शुरू होता है तो उन्हें खाली स्टेडियम में भी खेलने से गुरेज नहीं है. अब इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन भी दर्शकों के बिना खेलने को इच्छुक हैं. Also Read - यूपी में 8 जून से खोले जाएंगे धार्मिक स्थल, होटल, रेस्तरां और शॉपिंग मॉल; जुलाई में खुलेंगे स्कूल

एंडरसन ने कहा कि वह टीम के लिए इस सीजन में खेलने को लेकर रोमांचित हैं, भले ही उन्हें ये मैच दर्शकों के बिना खाली स्टेडियम में खेलने पड़े. Also Read - आर्थिक गतिविधियों को बंद करने से पहले रूपरेखा तैयार करके समीक्षा करनी चाहिए थी : यामाहा

इंग्लैंड के क्रिकेटर अगले हफ्ते से सीमित व्यक्तिगत ट्रेनिंग शुरू करेंगे. इंग्लैंड एंव वेल्स क्रिकेट बोर्ड को उम्मीद है कि वे कोरोना वायरस के कारण स्थगित सत्र शुरू कर सकते हैं. लेकिन अधिकारियों का मानना है कि अंतरराष्ट्रीय मैच दर्शकों के बिना ही खेले जा सकते हैं. Also Read - Mann ki Baat Today: कोरोना वायरस से गरीब एवं श्रमिक परिवार सबसे ज्यादा बुरी तरह प्रभावित हुए हैं: पीएम मोदी

एंडरसन का उत्साह हालांकि इस बात से कम नहीं हुआ है और वह इंग्लैंड के लिए खेलने के लिए बेताब हैं. इस तेज गेंदबाज ने नई गेंद के उनके साथी स्टुअर्ट ब्रॉड से इंस्टाग्राम लाइव पर बातचीत करते हुए कहा, ‘हम इन गर्मियों में जिस तरह से क्रिकेट खेलने की संभावना के बारे में बात कर रहे हैं, वह एक तरह से रोमांचित करने वाला है.’

‘मुझे खेलने में कोई परेशानी नहीं’

उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि जहां तक सुरक्षा का संबंध है तो मुझे ऐसे खेलने में कोई परेशानी नहीं होगी. हम काफी लंबे समय से इंग्लैंड के लिए खेल रहे हैं. हमारे पास कुछ शानदार लोग हैं जो हर संभावना पर काम कर रहे हैं ताकि हम आगे बढ़ें.’

37 वर्षीय इस अनुभवी गेंदबाज ने कहा कि उन्हें लंकाशायॅर के लिए काउंटी मैचों में कम दर्शकों के साथ खेलने का अनुभव है. गौरतलब है कि कई भारतीय खिलाड़ी भी खाली स्टेडियम में खेलने को तैयार हैं.