अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने अपने उस नियम को हटा दिया, जिसके बूते इसी साल खेले गए विश्व कप फाइनस के विजेता का फैसला हुआ. इस नियम के तहत उप-विजेता बनी न्यूजीलैंड के खिलाड़ी जिम्मी नीशम ने इस पर आईसीसी की टांग खिंचाई की.

पढ़ें:- सौरव गांगुली ने बीसीसीआई में अपनी नई टीम के साथ साझा की फोटो

नीशम ने ट्वीट किया, “एजेंडा में अगला कदम: टाइटेनिक पर आइस स्पोटर्स के लिए अच्छी दूरबीन.” इस ट्वीट के साथ नीशम ने उस स्टोरी का लिंक भी लगाया है जिसमें इस आईसीसी द्वारा इस नियम को हटाने की खबर है.

विश्व कप फाइनल में इंग्लैंड और न्यूजीलैंड का मैच 50 ओवरों में टाई रहा था और इसके बाद सुपर ओवर में भी मैच टाई रहा था. जिसके बाद फैसला इस बात पर निकला था कि किस टीम ने मैच में ज्यादा बाउंड्री लगाई हैं. यहां इंग्लैंड टीम बाजी मार ले गई थी और पहली बार विश्व विजेता बनी थी.

आईसीसी की मुख्य कार्यकारी समिति ने सोमवार को फैसला किया कि वह सुपर ओवर के नियम को जारी रखेगी और ज्यादा बाउंड्री मारने वाले नियम को हटा देगी.

पढ़ें:- पारस खड़का ने नेपाल क्रिकेट टीम की कप्‍तानी छोड़ी

आईसीसी ने एक बयान में कहा, “क्रिकेट समिति और सीईसी (आईसीसी चीफ एक्जीक्यूटिव कमेटी) ने इस बात पर सहमति जाहिर की है कि सुपर ओवर उत्साहजनक और खेल का फैसला करने के लिए सही है, इसलिए यह वनडे और टी-20 विश्व कप में बना रहेगा.”

बयान में कहा गया है, “ग्रुप दौर में अगर सुपर ओवर टाई रहता है तो मैच टाई ही रहेगा. सेमीफाइनल और फाइनल में सुपर ओवर के नियमों में एक बदलाव किया गया है कि जब तक एक टीम जीत नहीं जाती तब तक सुपर ओवर जारी रहेगा.”

विश्व कप फाइनल में इंग्लैंड को न्यूजीलैंड के मुकाबले ज्यादा बाउंड्री लागने के कारण विश्व विजेता बना दिया गया था. इस नियम की काफी आलोचना हुई थी.