वेस्टइंडीज के कप्तान जेसन होल्डर (Jason Holder) ने कहा कि उनकी टीम कोविड-19 महामारी के बीच पैसे के लालच या दुस्साहस की भावना से टेस्ट सीरीज खेलने के लिए इंग्लैंड दौरे पर नहीं आई है बल्कि ये उसका परिस्थितियों को सामान्य करने की दिशा में एक वास्तविक प्रयास है। Also Read - वैज्ञानिकों ने खोजा कोरोना से जुड़ी गंभीर बीमारियों से बच्चों को बचाने का रहस्य, जानिए क्या है इनका दावा  

होल्डर ने ‘बीबीसी स्पोर्ट’ से कहा, ‘‘कई लोग क्रिकेट की वापसी चाह रहे थे। ऐसा नहीं है कि हम बलि का बकरा बनना चाहते थे। हमारा इन गर्मियों में ब्रिटेन का दौरा करने का शुरू से ही कार्यक्रम था। जब हमने इसकी संभावनाओं को लेकर बात की तो हर कोई सहज था और अब हम यहां हैं।’’ Also Read - ENG vs WI, 1st Test, Day-2: जेसन होल्‍डर ने झटके छह विकेट, 204 रन पर सिमटा इंग्‍लैंड

ब्रिटेन में कोरोना वायरस महामारी का व्यापक प्रभाव पड़ा है जहां अभी तक इस बीमारी के कारण 40,000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। दूसरी तरफ कैरेबियाई देशों में बहुत कम संख्या में मामले सामने आए हैं। Also Read - Corona Virus in India: इन 8 राज्यों में हैं 90 प्रतिशत मरीज, देश में क्या है कोरोना वायरस का हाल, जानें

होल्डर ने कहा कि उनके यहां आने का कारण पैसा नहीं है और वे स्वास्थ्य से समझौता नहीं करेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘ये हमारे लिए पैसों से जुड़ा मसला नहीं है। हम सुरक्षा चाहते हैं और हम ये सुनिश्चित करना चाहते हैं कि हमारे लिए उचित व्यवस्था की जाए और हम उस पर अमल करें।’’

होल्डर ने कहा, ‘‘अगर आप खुद को एक स्वास्थ्यकर्मी या इस महामारी के दौरान काम करने के वाले व्यक्ति की जगह रखकर देखो तो पाओगे कि उन्हें इस घर में बैठने या वायरस से दूर रहने का मौका नहीं मिला। हम भाग्यशाली हैं कि हम उस स्थिति में नहीं है लेकिन किसी समय आपको स्थितियां सामान्य लाने के लिए अपनी तरफ से प्रयास तो करने ही होंगे।’’