नई दिल्ली. वो कहावत तो आपने सुनी ही होगी. शिकारी आएगा, जाल बिछाएगा, दाना डालेगा, जाल में फंसना नहीं. बुमराह और हैरिस के बीच की स्टोरी भी कुछ ऐसी है.  मेलबर्न टेस्ट में जसप्रीत बुमराह के विकेटों की लिस्ट लंबी होती जा रही है. लेकिन इसकी शुरुआत उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई ओपनर मार्कस हैरिस का विकेट लेकर की थी. तीसरे दिन के पहले सेशन में बुमराह ने हैरिस को अपनी बाउंसर पर थर्डमैन पर खड़े ईशांत शर्मा के हाथों कैच कराया. बुमराह ने अपने जिस बाउंसर पर हैरिस का शिकार किया वो दरअसल उनकी स्ट्रेटजी का हिस्सा था, जिसमें ऑस्ट्रेलियाई ओपनर फंस चुका था.

बुमराह ने सिर्फ 111kph की रफ्तार से किया शॉन मार्श का शिकार, तोड़ा 39 साल पुराना रिकॉर्ड

बुमराह का ‘बाउंसर’ जाल

हम ऐसा क्यों कह रहे वो जानने पहले जरा दूसरे दिन की इस तस्वीर को देखिए. ये बुमराह की फेंकी बाउंसर है जिसने सीधा हैरिस के हेलमेट पर चोट किया था.

ऑस्ट्रेलियाई ओपनर हैरिस इससे संभलने के बजाए उलटे इसके बहकावे में आ गए. तीसरे दिन मैदान पर उतरने से पहले दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि अब वो बुमराह की बाउंसर पर डक नहीं करेंगे बल्कि उसका बल्ले से जवाब देंगे.

बहरहाल, जवाब तो वो नहीं दे सके. उलटे बुमराह के बिछाए बाउंसर जाल में फंस गए और अपना विकेट गंवा बैठे. हैरिस ने 35 गेंदों का सामना कर सिर्फ 22 रन बनाए और अपनी टीम को मंझधार में छोड़कर चले गए.