केएल राहुल ने सीमित ओवरों की टीम में अपनी जगह बतौर विकेटकीपर पक्की कर ली है. टीम इंडिया ने पहले युवा विकेटकीपर रिषभ पंत को आजमाया लेकिन वह मौके भुनाने में असफल रहे. ऐसे में उनकी जगह केएल को विकल्प के रूप में उतारा गया और उन्होंने इस मौके को अपने हाथ नहीं जाने दिया. खासकर वनडे और टी-20 क्रिकेट में राहुल भारत के लिए विकेट के पीछे बखूबी अपना काम कर रहे हैं. Also Read - राजीव गांधी खेल रत्न पाने वाले चौथे क्रिकेटर बन सकते हैं रोहित शर्मा; जानें क्यों हैं इस सम्मान के हकदार

राहुल ने की नजर में जसप्रीत बुमराह के सामने विकेट के पीछे खड़े होना सबसे मुश्किल है. राहुल ने रविवार को अपने ट्विटर हैंडल पर सवाल जवाब सत्र के दौरान कहा, ‘विकेटकीपिंग का भरपूर लुत्फ उठा रहा हूं. वह गेंदबाज जिसके सामने विकेटकीपिंग करना सबसे मुश्किल है, जसप्रीत बुमराह हैं.’ Also Read - हसीन जहां ने इंस्‍टाग्राम पर शेयर की न्‍यूड पिक्‍चर, मोहम्‍मद शमी पर कसा तंज, मचा बवाल

‘आरसीबी के लिए खेलना अहम था’ Also Read - विराट कोहली ने कहा- मेरे कप्तान बनने के पीछे महेंद्र सिंह धोनी का बड़ा हाथ

राहुल ने कहा कि आईपीएल 2016 में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) की तरफ से खेलना उनके करियर के लिए महत्वपूर्ण रहा. उन्होंने कहा, ‘यह आरसीबी के साथ 2016 का सत्र था जो मेरे करियर के लिए महत्वपूर्ण साबित हुआ क्योंकि लोगों ने सीमित ओवरों की क्रिकेट में भी मेरी क्षमता देखी.’

‘स्मार्ट क्रिकेटर हैं क्रिस गेल’

आरसीबी की तरफ से क्रिस गेल के साथ ड्रेसिंग रूम साझा कर चुके राहुल ने कहा कि यह कैरेबियाई बल्लेबाज स्मार्ट क्रिकेटर हैं.

बकौल राहुल, ‘बल्लेबाजी जोड़ीदार के रूप में वह लाजवाब हैं. मैं गेल से पहली बार तब मिला जब मैं आरसीबी में था. क्रिस के साथ मेरी सबसे अच्छी बातचीत क्रीज पर होती थी. वह स्मार्ट क्रिकेटर हैं और अपने खेल की योजना बनाते हैं. उनका टीम में होना शानदार था और वह यहां तक कि युवाओं के साथ भी दोस्ताना रवैया रखते हैं.’

धोनी के हाथों टेस्ट कैप मिलना मेरे लिए बड़ी उपलब्धि’

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दिसंबर 2014 में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने वाले राहुल ने कहा कि महेंद्र सिंह धोनी से टेस्ट कैप हासिल करना विशेष अहसास था.

उन्होंने कहा, ‘यह मेरे लिए विशेष और भावनात्मक क्षण था. मैंने कभी नहीं सोचा था कि मुझे उस सीरीज में खेलने का मौका मिलेगा तथा धोनी से कैप हासिल करना विशेष अहसास था.’

36 टेस्ट, 32 वनडे और 42 टी20 खेल चुके हैं राहुल

अब तक भारत की तरफ से 36 टेस्ट, 32 वनडे ओर 42 टी20 अंतरराष्ट्रीय खेलने वाले राहुल ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीमित ओवरों की घरेलू सीरीज से विकेटकीपिंग का जिम्मा संभाला और फिर न्यूजीलैंड दौरे में भी यह भूमिका निभाई.