नई दिल्ली : इंग्लैंड की बल्लेबाजी की नींव हिलाने वाले भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने इस बात से इनकार किया कि चौथे टेस्ट में भारत ने अच्छी शुरूआत के बाद अपनी पकड़ ढीली कर दी. सैम कुरेन के 78 रन की मदद से इंग्लैंड ने पहली पारी में 246 रन बनाये जबकि एक समय स्कोर छह विकेट पर 86 रन था. बुमराह ने कहा, ‘‘आप हर सत्र में पांच छह विकेट नहीं ले सकते.’’ उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने भी अच्छा खेला. सैम कुरेन और मोईन अली ने अच्छी साझेदारी की. कुरेन ने शुरू में संभलकर खेला. गेंद पुरानी होने पर स्विंग नहीं ले रही थी और सीम भी नहीं मिल रही थी.’’

उन्होंने कहा, ‘‘बाद में उन्होंने तेजी से रन बनाने शुरू किया. ब्रेक के बाद हमने तय किया कि विकेट के लिये अतिरिक्त प्रयास करने होंगे. आपको लालच और अधिक अपेक्षाओं से बचना होता है. उनके छह विकेट 86 रन पर थे और वे 100 रन पर भी आउट हो सकते थे. हमें कोई दुख नहीं कि उन्होंने इतने रन बनाये. हम भी अच्छी बल्लेबाजी करके दबाव बना सकते हैं.’’

INDvsENG: अश्विन ने कुंबले-भज्जी के ‘क्लब 100’ में बनाई जगह, विदेशी मैदानों पर दमदार प्रदर्शन

बुमराह ने कहा, ‘‘सुबह काफी सीम और स्विंग मिल रही थी. हम भी पहले बल्लेबाजी करना चाहते थे. गेंद को हमारी अपेक्षा से अधिक मूवमेंट मिल रही थी. हमने सोचा नहीं था कि इतनी मदद मिलेगी. हमें खुशी है कि हम दोनों छोर से दबाव बना सके.’’

INDvsENG: सचिन-द्रविड़ के बाद कोहली भी ‘स्पेशल 200’ में शामिल, कई दिग्गज पीछे छूटे

बता दें कि चौथे टेस्ट मुकाबले में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया. इस दौरान टीम के लिए एलिस्टर कुक और कीटन जेनिंग्स ओपनिंग करने आए. जेनिंग्स बिना खाता खोले ही पवेलियन लौट गए. जब कि कुक 17 रन बनाकर आउट हुए. इस दौरान कप्तान जो रूट महज 4 रन और जॉनी बेयरस्टो सिर्फ 6 रन बनाकर आउट हुए. हालांकि बेन स्टोक्स और जोस बटलर ने कुछ देर तक संघर्ष किया. लेकिन फिर बटलर 21 रन और स्टोक्स 23 रन बनाकर आउट हुए. मोईन अली और सैम कुरेन के बीच अर्धशतकीय साझेदारी हुई. मोईन 40 रन और कुरेन 78 रन बनाकर आउट हुए.