न्यूजीलैंड (New Zealand) के खिलाफ पहले टेस्ट में एक पारी और 65 रन से मिली करारी हार के बाद इंग्लैंड के कप्तान जो रूट (Joe Root) ने कहा है कि पहली पारी में मिले मौकों का फायदा ना उठा पाने की वजह से उनकी टीम को हार का सामना करना पड़ा। विकेटकीपर बल्लेबाज बीजे वॉटलिंग (BJ Watling) के रिकॉर्ड दोहरे शतक के दम पर 615 रन का स्कोर बनाकर न्यूजीलैंड ने बे ओवल टेस्ट में शानदार जीत हासिल कर सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली है।Also Read - अगले साल भारत-इंग्लैंड के बीच खेला जाएगा कोविड की वजह रद्द हुआ मैनचेस्टर टेस्ट: ECB

Also Read - T20 World Cup 2021, ENG vs NZ, Practice Match: जोस बटलर ने तूफानी अंदाज में ठोके 73 रन, इंग्‍लैंड को दिलाई जीत

पहली पारी में इंग्लैंड का स्कोर एक समय चार विकेट के नुकसान पर 277 रन था। जब बेन स्टोक्स (Ben Stokes) 91 रन के स्कोर पर आउट हुए उसके बाद इंग्लैंड पहली पारी में 353 पर ऑल आउट हो गई। Also Read - एशेज के बाद वेस्टइंडीज का दौरा करेगा इंग्लैंड, ऐसा रहेगा शेड्यूल

मैच के बाद रूट ने कहा, “जिस स्थिति में हम थे वहां तक पहुंचना और फिर उस स्थिति का फायदा ना उठा पाना, शायद यही हमारी हार का बड़ा कारण रहा। अगर ईमानदारी से बात कहूं तो हमने मौका गंवाया है। आप दोनों टीमों को देखिए। उनके दो खिलाड़ियों ने बड़ी पारियां खेलीं। हमारे पास कुछ ऐसे खिलाड़ी थे जो अच्छा खेले लेकिन वो और अच्छा कर सकते थे और स्कोर को 450 तक पहुंचा सकते थे।”

मार्च 2020 में मैदान पर वापसी कर सकते हैं महेंद्र सिंह धोनी!

रूट ने हालांकि टीम का बचाव किया है और कहा कि एक हार से घबराने की जरूरत नहीं है। कप्तान ने कहा, “हमने हालांकि अच्छा खेला। हमें बस थोड़ा लंबा खेलने की जरूरत थी और 50-70 के स्कोर को शतक और दोहरो शतकों में बदलना था। हमें अपने आप से ईमानदार रहने की जरूरत है, ना कि घबराने की। ये विश्व का अंत नहीं है। हमें बस कड़ी मेहनत करनी हैं।”