इंडियन प्रीमियर लीग एक ऐसा टी20 टूर्नामेंट हैं, जिसने कई युवा खिलाड़ियों के करियर बनाए हैं। वैसे तो ये टूर्नाेमेंट भारतीय खिलाड़ी के राष्ट्रीय टीम तक के सफर को आसान बनाने का काम करने के लिए मशहूर है लेकिन विदेशी क्रिकेटरों को भी यहां विश्व के सर्वोच्च खिलाड़ियों के सामने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने का मौका मिलता है। ऐसे में किसी भी विदेशी खिलाड़ी के लिए आईपीएल नीलामी में चुना जाना बड़ी बात होती है। Also Read - श्रीलंकाई टीम टी20 विश्‍व कप में विरोधियों के लिए होगी बड़ा खतरा, ग्रांट फ्लावर ने बताई वजह

हालांकि इंग्लैंड के जोफ्रा आर्चर (Jofra Archer) जब साल 2018 में पहली बार इस नीलामी का हिस्सा बने थे और राजस्थान रॉयल्स ने उन पर बोली लगाई तो उन्हें नहीं लगा था कि वो टूर्नामेंट का एक भी मैच खेलेंगे। आर्चर का मानना था कि चूंकि उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेली है इसलिए उन्हें आईपीएल में प्लेइंग इलेवन में शामिल होने का मौका नहीं मिलेगा। आईपीएल-2018 की नीलामी में राजस्थान रॉयल्स ने आर्चर को 7.20 करोड़ रुपये में खरीदा था। Also Read - RBI Bonds scheme: छोटे निवेशकों को झटका, सरकार ने बंद की सुरक्षित निवेश की ये योजना, पूर्व वित्त मंत्री ने कही ये बात

रॉयल्स के स्पिन सलाहकार और न्यूजीलैंड के लेग स्पिनर ईश सोढ़ी के साथ पोडकास्ट पर बात करते हुए आर्चर ने कहा, “मैं वाकई में काफी उत्साहित था। मैं दो-तीन घंटे पहले होबार्ट हरीकेंस के साथ मेलबर्न में मैच खेल कर फ्री हुआ था, हमने उस मैच में मेलबर्न स्टार्स को हराया था। मैं, डार्सी शॉर्ट और बेन मैक्डरमोट और वो सभी खिलाड़ी जो ड्राफ्ट में थे, हमारे पास मिनी वैन थी जो हमें मैदान से ले जा रही थी। जो भी खिलाड़ी ड्राफ्ट में थे, सभी ने पहली बस पकड़ी और एक साथ नीलामी देखी।” Also Read - पहले भी हुआ था भारत में टिड्डियों का हमला, देखकर डर गए थे धर्मेंद्र, फिर फटाफट से....

उन्होंने कहा, “मेरे पास दो फोन थे, एक फोन पर मैं क्रिस जोर्डन (सीजे) से बात कर रहा था और दूसरे फोन पर अपने माता-पिता से। मैंने देखा और मैं सीजे से कह रहा था कि मैं शायद एक भी मैच नहीं खेलूं क्योंकि मैंने अभी तक अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेली है। मैंने उनसे कहा था कि मुझे मेरी बेस प्राइस पर खरीदा जाएगा और मैं शायद भारत में आठ महीने बिना क्रिकेट खेल बिताऊंगा।”

दाएं हाथ के इस गेंदबाज ने कहा, “जैसे ही बोली लगना शुरू हुई कुछ टीमों ने हाथ उठाया और तब मैंने सोचा कि मैं निश्चित तौर पर भारत जाऊंगा।”

साल 2018 में आईपीएल में उतरने के बाद आर्चर ने मई 2019 में इंग्लैंड की राष्ट्रीय टीम के लिए डेब्यू किया था।