नई दिल्ली : दक्षिण अफ्रीका के पूर्व अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी जोहान बोथा ने क्रिकेट के सभी प्रारूप से तत्काल प्रभाव से संन्यास ले लिया है. बोथा ने आस्ट्रेलिया में बिग बैश लीग (बीबीएल) में अपनी टीम हरीकैन होबार्ट की हार के बाद बुधवार रात को अचानक यह फैसला लिया. होबार्ट हरीकैन की वेबसाइट ने बोथा के बयान को साझा किया है. होबार्ट हरीकैन को सिडनी सिक्सर्स के हाथों हार का सामना करना पड़ा था जिसके बाद बोथा ने संन्यास का ऐलान किया.

फ्रेंचाइजी की वेबसाइट पर जारी बयान के मुताबिक बोथा ने लिखा है, “मेरे लिए यह बेहद भावुक पल है, लेकिन मुझे लगता है कि कहीं न कहीं समय आ गया है कि मैं अपने करियर में नए दौर की तरफ बढ़ूं.” बोथा ने लिखा, “क्रिकेट 19 साल तक मेरी जिंदगी का हिस्सा रहा और मेरा सपना हमेशा से शीर्ष स्तर पर खेलना था. मैंने हमेशा सब कुछ मैदान पर छोड़ा, लेकिन इस समय मुझे लग रहा है कि मुझे पीछे हटना चाहिए और नए खिलाड़ियों को मौका देना चाहिए.”

नेपियर के मेयर ने भारत को दी सलाह, कहा- सूरज की रोशनी बर्दाश्त करना सीखें खिलाड़ी

बोथा ने अपने परिवार, साथी खिलाड़ियों और प्रशिक्षकों का शुक्रिया अदा किया है. बोथा ने दक्षिण अफ्रीका के लिए आठ साल तक क्रिकेट खेली. इस दौरान उन्होंने 78 वनडे और 40 टी-20 मैच खेले. वनडे और टी-20 को मिलकर बोथा ने दक्षिण अफ्रीका के लिए 21 मैचों में कप्तानी की और 16 में जीत दिलाई. बोथा ने दक्षिण अफ्रीका के लिए पांच टेस्ट मैच भी खेले.

रैना ने टीम इंडिया को दिया सुझाव, धोनी के लिए बताई बैटिंग की सही जगह

बोथा का क्रिकेट करियर प्रभावी रहा. उन्होंने 78 इंटरनेशनल वनडे मैच खेले. इस दौरान उन्होंने 50 वनडे पारियों में 609 रन बनाए. जबकि 20 टी-20 इंटरनेशनल पारियां भी खेलीं. उन्होंने 75 वनडे पारियों में बॉलिंग करते हुए 72 विकेट झटके. जबकि 39 टी-20 पारियों में 37 विकेट लिए. इससे पहले वो घरेलू मैचों में कई बार शानदार प्रदर्शन कर चुके हैं.