विंबलडन में अब तक सबसे लंबी अवधि तक चले मैच में जीत दर्ज करने वाले जान इसनर (John Isnar) ने कहा कि अगर इस साल ये प्रतिष्ठित टेनिस प्रतियोगिता रद्द हो जाती है तो इसे पचा पाना मुश्किल होगा। संभावना है कि टूर्नामेंट के अधिकारी जल्द ही इस पर फैसला करेंगे कि 29 जून से आल इंग्लैंड क्लब में शुरू होने वाली इस प्रतियोगिता को कोरोना वायरस महामारी के चलते स्थगित किया जाए या रद्द। Also Read - पीएम मोदी का दुनिया को भरोसा- भारत की टीका उत्पादन क्षमता पूरी मानवता को इस संकट से बाहर निकालेगी

इसनर ने मंगलवार को ईएसपीएन से कहा, ‘‘हम उम्मीद कर रहे हैं कि वो इस साल टूर्नामेंट के आयोजन को लेकर आशावादी होंगे। मैं उनसे कुछ सकारात्मक सुनना पसंद करूंगा।’’ Also Read - बिना अनुमति जुलूस निकाला था, तेजस्वी, तेजप्रताप और पप्पू यादव के खिलाफ केस दर्ज

लेकिन घास से भरे कोर्ट और मौसम को देखते हुए टूर्नामेंट के लिए साल का विशेष समय महत्व रखता है ऐसे में इसनर को लगता है कि ये साल विंबलडन के बिना भी गुजर सकता है। उन्होंने कहा, ‘‘हमें ये बात स्वीकार करनी पड़ सकती है कि इस बार हम विंबलडन नहीं खेल पाएंगे। इसे पचा पाना बहुत मुश्किल होगा।’’ Also Read - हज 2021 को लेकर आवेदन प्रक्रिया जल्द शुरू होगी, सऊदी अरब की गाइडलाइंस का इंतजार

इसनर अभी एटीपी रैंकिंग में 21वें नंबर पर हैं और अमेरिकी खिलाड़ियों में शीर्ष पर है। उन्होंने 2010 में विंबलडन के पहले दौर में फ्रांस के निकोलस माहूट को 11 घंटे से भी अधिक समय तक चले मैच में हराया था। ये मैच तीन दिन तक खिंचा था जिसमें पांचवां सेट 70-68 पर खत्म हुआ था।