नई दिल्ली: इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टॉ का मानना है कि लेग स्पिनर आदिल राशिद टेस्ट के टीम में चयन को लेकर चल रही बहस को पीछे छोड़ते हुए वनडे के फॉर्म को टेस्ट में भी जारी रखेंगे. राशिद ने 2018 के शुरुआत में काउंटी क्रिकेट में टेस्ट मैच खेलना छोड़ दिया है और पिछले साल सितंबर के बाद प्रथम श्रेणी का कोई मैच भी नहीं खेला है फिर भी उन्हें भारत के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला के पहले टेस्ट की टीम में चुना गया.

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने हालांकि इसे ‘हास्यास्पद’ करार दिया था. वहीं पूर्व कप्तान नासिर हुसैन को भी लगता है कि राशिद को टीम में चुना जाना काउंटी क्रिकेट के लिये अच्छा नहीं है. इंग्लैंड के महान आल राउंडर इयान बाथम ने इस विवाद गैर जरूरी करार दिया.

मैदान पर भांगड़ा करते हुए पहुंचे कोहली-धवन, VIDEO वायरल

बेयरस्टॉ उनकी घरेलू टीम यॉर्कशर के साथी है. उन्होंने विवादों से बचते कहा कि एक अगस्त से बर्मिंघम में शुरू हो रहे टेस्ट की टीम में चयन से यह लेग स्पिनर काफी उत्सुक होगा. उन्होंने कहा, ‘‘आपके लिए सबसे बड़ा सम्मान यह होता है कि आप इंग्लैंड के लिए टेस्ट क्रिकेट खेल रहे हैं. उसके लिए सफेद गेंद क्रिकेट से लाल गेंद क्रिकेट में खुद को ढालना एक चुनौती होगी.’’

धोनी के संन्यास के बाद खराब रहा भारत टेस्ट विकेटकीपर्स का प्रदर्शन, ये रिकॉर्ड्स हैं गवाह

राशिद ने भारतीय कप्तान विराट कोहली को एकदिवसीय श्रृंखला शानदार गेंद पर बोल्ड किया जिससे टेस्ट टीम में उनके आने का रास्ता साफ हुआ. राशिद के साथ किशोरावस्था से क्रिकेट खेल रहे बेयरस्टॉ उन्हें टेस्ट टीम में जगह मिलने से खुश है. उन्होंने कहा, ‘‘कई वर्षों से उसने मुझे कई बार बोल्ड किया है. यह सिर्फ एक गेंद के लिये नहीं बल्कि उसके कौशल, गति, गुगली और गेंद की गति में परिवर्तन जैसी विविधताओं के लिए याद किया जाएगा. उसका साइड स्पिन और टॉप स्पिन का इस्तेमाल करना भी प्रभावित करने वाला है.’’