नई दिल्ली : ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर ने सोमवार को कहा कि उन्हें भारत के खिलाफ मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) पर खेले जाने वाले तीसरे टेस्ट मैच में बल्ले और गेंद के बीच अच्छी कड़े मुकाबले की उम्मीद है. भारत और ऑस्ट्रेलिया की बीच चार टेस्ट मैचों की सीरीज का तीसरा मैच बॉक्सिंग डे (26 दिसंबर) से शुरू हो रहा है. एमसीजी की विकेट पर कुछ घास है जिससे लैंगर को यहां अच्छी क्रिकेट होने की उम्मीद है.

एक वेबसाइट ने लैंगर के हवाले से लिखा है, “विकेट पर घांस देखकर अच्छा लगा. मैंने यहां छह-सात साल तक शील्ड क्रिकेट खेली है और यहां टेस्ट मैच होते हुए देखे हैं. मैंने पहले भी कहा है कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर टेस्ट क्रिकेट में सबसे अहम चीज विकेट होती है.”

धोनी टीम इंडिया में वापसी करते ही हुए ट्रेंड, फैन्स ने सोशल मीडिया पर जाहिर की खुशी

पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा, “अगर आपके पास अच्छी पिचें हैं तो बल्ले तथा गेंद के बीच अच्छी प्रतिस्पर्धा होती है, तभी टेस्ट क्रिकेट जिंदा रहेगी और अच्छी होगी. अगर हम फ्लैट विकेट पर खेलेंगे तो मैच काफी बोरिंग हो जाएगा.” दोनों टीमों के बीच दूसरा टेस्ट मैच पर्थ में खेला गया था. अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने पर्थ की विकेट को औसत माना है.

टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घोषित की वनडे टीम, धोनी-जडेजा की वापसी

इस पर ऑस्ट्रेलियाई कोच ने कहा, “मैं हकीकत में हैरान था. मुझे लगता है कि कुछ गेंदें नीची रही थीं, लेकिन मुझे लगता है कि वह रोचक टेस्ट मैचा था. वह काफी तेज पिच थी और ऐसी तेज पिच मैंने कभी पर्थ में नहीं देखी.” उन्होंने कहा, “मुझे लगा कि वह काफी रोचक टेस्ट था. उसका परिणाम पांचवें दिन आया था. निजी तौर पर कहूं तो मैं इस तरह की क्रिकेट देखना पसंद करता हूं.”