भारत के हाथों पहले दो टेस्ट मैचों में करारी शिकस्त झेलने वाली दक्षिण अफ्रीकी टीम के तेज गेंदबाज कगीसो रबाडा को लगता है कि क्या उनकी टीम को इससे अधिक दबाव में रखा जा सकता है.

भारतीय शीर्ष क्रम ने शानदार प्रदर्शन करके विशाखापत्तनम और पुणे में खेले गये टेस्ट मैचों में विशाल स्कोर खड़ा किया था. रबाडा ने पत्रकारों से कहा, ‘‘हमें बहुत अधिक दबाव में रखा गया. मैं नहीं जानता कि हमें इससे अधिक दबाव में रखा जा सकता है.’’

पढ़ें:- Vijay Hazare: घरलू क्रिकेट के दिग्‍गज वसीम जाफर ने घटिया क्‍वालिटी की पिचों के लिए की BCCI की आलोचना

इस 24 वर्षीय तेज गेंदबाज ने स्वीकार किया कि केवल भारतीय बल्लेबाजों ही नहीं बल्कि गेंदबाजों ने भी उन्हें चारों खाने चित करने में कसर नहीं छोड़ी.

रबाडा ने कहा, ‘‘उन्होंने गेंद रिवर्स करायी और एक समूह के तौर पर उन्होंने अच्छी गेंदबाजी की. उनके पूरे आक्रमण ने हम पर दबाव बनाया. उनके स्पिनरों ने अच्छी गेंदबाजी की और जब गेंद रिवर्स स्विंग ले रही थी तो उनके तेज गेंदबाजों ने इसका फायदा उठाया. हम वास्तव में गेंद को रिवर्स नहीं करा पाये और यह हमारा मुख्य अस्त्र है.’’

पढ़ें:- लगातार 2 मैच जीतने के बाद जापान से हारी जूनियर हॉकी टीम

रबाडा ने उम्मीद जतायी कि यह दौर जल्द ही निकल जाएगा. ‘‘हारना कभी अच्छा नहीं लगता विशेषकर जिस तरह से अभी हमने मैच गंवाये लेकिन हम बदलाव के दौर से गुजर रहे हैं. हमारी टीम नयी और युवा है इसलिए बेहतर यही है कि हम इस पर ध्यान दें कि हम कहां सुधार कर सकते हैं और अपने मजबूत पक्षों को याद रखें और उनके दम पर आगे बढ़ें.’’

रबाडा ने कहा कि उनकी टीम शनिवार से शुरू होने वाले तीसरे टेस्ट मैच में जीत दर्ज करके श्रृंखला का अच्छा अंत करने की कोशिश करेगी.