युवा तेज गेंदबाज कमलेश नागरकोटी ने चोटिल होने के कारण 19 महीने तक बाहर रहने के बाद आगामी ‘एमर्जिंग एशिया कप’ के लिये सोमवार को भारतीय टीम में वापसी की। Also Read - 'आज नहीं तैयार हुआ ये भारतीय पैस अटैक; कपिल देव, जवागल श्रीनाथ ने रखी थी नींव'

पढ़ें:- IND vs SA: अपने खेल में अश्विन-जडेजा सी निरंतरता चाहते हैं केशव महाराज Also Read - IPL 2020 Auction: इन 3 भारतीय खिलाड़ियों को रिटेन कर फ्रेंचाइजी ने चौंकाया

पिछले साल न्यूजीलैंड में अंडर-19 विश्व कप में भारत के खिताबी अभियान में अहम भूमिका निभाने वाले नागरकोटी पर बेंगलुरु स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में विशेषज्ञों ने लगातार निगरानी रखी। वह यहां पीठ के निचले हिस्से, एड़ी और टखने का उपचार करा रहे थे। Also Read - Emerging Asia Cup: सेमीफाइनल में बेहद करीबी मुकाबले में पाकिस्‍तान से तीन रन से हारा भारत

इस 19 वर्षीय खिलाड़ी ने अपना आखिरी मैच पिछले साल राजस्थान की तरफ से विजय हजारे ट्राफी में खेला था। ‘एमर्जिंग एशिया कप’ नवंबर में बांग्लादेश में आयोजित किया जाएगा।

पढ़ें:- गौतम गंभीर बोले- टीम मैनेजमेंट को हिम्‍मत दिखानी होगी और…

टूर्नामेंट के लिये भारतीय टीम इस प्रकार रहा है :

विनायक गुप्ता, आर्यन जुयाल, बी.आर. शरथ (कप्तान और विकेटकीपर) चिन्मय सुतार, यश राठौड़, अरमान जाफर, संवीर सिंह, कमलेश नागरकोटी, ऋतिक शौकीन, एसए देसाई, अर्शदीप सिंह, एसआर दुबे, कुमार सूरज, पी.रेखाडे, कुलदीप यादव।