भारतीय टीम के कप्‍तान विराट कोहली (Virat Kohli) मौजूदा वक्‍त के सर्वश्रेष्‍ठ खिलाड़ी हैं। हर कोई विराट कोहली की निरंतरता को देखकर हैरान हैं। विराट की रिकॉर्ड तोड़ बल्लेबाजी का आकलन करते हुए न्यूजीलैंड के उनके समकक्ष केन विलियमसन (Kane Williamson) ने कहा है कि यह नैसर्गिक क्षमता और लगातार सुधार करने की भूख के कारण है। Also Read - कोरोनाकाल में अब ये क्रिकेटर्स करेंगे मैदान में वापसी, बोर्ड ने की घोषणा

विलियमसन ने 2008 में डेब्‍यू करने वाले विराट कोहली और मौजूदा वक्‍त में कोहली की तुलना करते हुए यह अंतर बताया। स्टार स्पोर्ट्स के शो ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ से उन्‍होंने कहा, ‘‘आप तब कह सकते थे कि वह (कोहली) जल्द ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट पर अपनी छाप छोड़ेगा।’’ Also Read - England vs West Indies : कोहली से लेकर तेंदुलकर ने विंडीज की ऐतिहासिक जीत पर दिए रिएक्शन, जानिए किसने क्या कहा

‘‘इस समय वह क्रिकेट में सबसे आगे हैं और एक बल्लेबाज के रूप में मानक स्थापित कर रहा है और सभी रिकॉर्ड तोड़ रहा है। इसके पीछे संभवत: काफी हद तक उसकी परिवक्ता, काफी अच्छे फैसले करने की उसकी क्षमता भी है।’’ Also Read - अजिंक्य रहाणे का खुलासा- टी20 फॉर्मेट में खेल सुधारने के लिए द्रविड़ ने दी ये सलाह

विलियमसन ने कहा कि वह भाग्यशाली हैं कि उन्हें कोहली के साथ खेलने का मौका मिला। ‘‘उसके पास नैसर्गिक क्षमता होने के अलावा लगातार सुधार करने और रोज पिछले दिन से बेहतर होने की भूख भी है। काफी कम उम्र में उससे मिलना और उसकी प्रगति तथा यात्रा को देखना शानदार रहा।’’