न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम ने भारत का वनडे सीरीज में सफाया कर टी20 सीरीज में मिली हार का हिसाब बराबर कर लिया. कीवी टीम ने भारत को 3 मैचों की सीरीज में सफाया कर दिया. मेजबान न्यूजीलैंड ने भारत को पहले वनडे में 4 विकेट से हराया था जबकि दूसरे वनडे में उसने मेहमान टीम इंडिया को 22 रन से शिकस्त दी. तीसरे और अंतिम वनडे में कीवी टीम ने भारत को 5 विकेट से मात दी.

31 साल बाद वनडे में क्‍लीन स्‍वीप हुआ भारत, जानें कब-कब टीम इंडिया के साथ हुआ ऐसा

बेशक न्यूजीलैंड ने वनडे सीरीज जीत ली हो लेकिन उसे इस दौरान टीम के कई खिलाड़ियों की चोट का भी सामना करना पड़ा. खुद कप्तान केन विलियमसन भी कंधे में चोट की वजह से दो वनडे से बाहर रहे. एक समय ऐसा भी आया जब कीवी के लिए प्लेइंग इलेवन भी जुटाना मुश्किल हुआ जिसकी वजह से उसके फील्डिंग कोच को फील्डिंग के लिए मैदान पर उतरना पड़ा.

विलियमसन को उम्मीद है कि 21 फरवरी से वेलिंगटन में शुरू हो रही टेस्ट सीरीज के लिए टीम के सभी खिलाड़ी फिट रहेंगे. टी20 इंटरनेशनल सीरीज को 0-5 से गंवाने के बाद न्यूजीलैंड ने वनडे सीरीज में शानदार वापसी करते हुए 3-0 से जीत दर्ज की. तीसरे वनडे को जीतने के बाद विलियमसन के चेहरे पर सूकुन भरी मुस्कान दिखी.

विलियमसन ने कहा, ‘हमें उम्मीद है कि पहले टेस्ट के लिए सभी खिलाड़ी फिट रहेंगे. दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम के खिलाफ अच्छा करने का शानदार मौका होगा. खिलाड़ियों का चोटिल होना खेल का हिस्सा है. हाल के दिनों में कई खिलाड़ी चोटिल हुए हैं. हम इससे निपट रहे हैं लेकिन कोई बहाना नहीं बना रहे हैं.’

उन्होंने कहा, ‘टीम में खिलाड़ियों को जो भूमिका दी गयी है उसमें उन्हें अपनी क्षमता के मुताबिक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा.’

विलियमसन ने कहा कि सीमित ओवरों के नतीजे का टेस्ट पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा लेकिन टीम एकदिवसीय श्रृंखला में 3-0 की जीत से मिले आत्मविश्वास को आगे ले जाना चाहेगी.

हमने एक सीरीज जीती दूसरी हारी इसलिए यह इतना गंभीर नहीं कि इसपर मंथन किया जाए : चहल

उन्होंने कहा, ‘जहिर है, टेस्ट में दूसरे खिलाड़ी होंगे और यह अलग तरह का प्रारूप है. पूरी सीरीज में हमने एक टीम की तरह खेलने की कोशिश की. यह अलग प्रारूप है लेकिन सीरीज में जाने से पहले खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ा होगा.’ न्यूजीलैंड के लिए वनडे सीरीज में रॉस टेलर, टॉम लेथम, हेनरी निकोल्स और मार्टिन गुपटिल का प्रदर्शन सराहनीय रहा.