नई दिल्ली: सर्वोच्च अदालत द्वारा नियुक्त की गई प्रशासकों की समिति (सीओए) ने शुक्रवार को कहा कि कपिल देव, अंशुमन गायकवाड़ और शांथा रंगास्वामी की समिति को भारत की पुरुष क्रिकेट टीम के कोच चुनने की जिम्मेदारी सौंपी गई है. यह तीनों भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की नई क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) बनाएंगे, जिसमें हितों का टकराव नहीं होगा.

कोहली-रोहित के बीच कोई मतभेद नहीं, सोशल मीडिया पर दिखी ‘दरार’ के बाद दी गई ये सफाई

बैठक के बाद सीओए के मुखिया विनोद राय ने कहा, “इन तीनों को सीएसी के तौर पर नियुक्त किया गया है. यह कानूनी तौर पर की गई नियुक्ति है लेकिन हितों के टकराव के बारे में हमें पता करना पड़ेगा. कोच के नाम का ऐलान इंटरव्यू लिए जाने के बाद किया जाएगा.” राय ने कहा, “इंटरव्यू संभवत: 13 या 14 अगस्त को लिए जाएंगे. भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली का नए कोच की नियुक्ति में कोई योगदान नहीं रहेगा. नए सपोर्ट स्टाफ के बारे में चयनकर्ता फैसला लेंगे.”

राय ने साथ ही यह साफ कर दिया कि विश्व कप के प्रदर्शन को लेकर कोई समीक्षा बैठक नहीं होगी क्योंकि टीम को वेस्टइंडीज दौरे के लिए रवाना होना है, लेकिन मैनेजर सुनील सुब्राम्णयम की रिपोर्ट पर चर्चा की जाएगी. उन्होंने कहा, “विश्वकप को लेकर कोई समीक्षा बैठक नहीं होगी क्योंकि टीम को कुछ ही दिनों में विंडीज दौरे के लिए रवाना होना है और इसमें कम समय बचा है. मैनेजर की रिपोर्ट पर जरूर चर्चा की जाएगी.”

इतने बिगड़ गए रिश्ते! रोहित शर्मा ने कोहली के बाद अब अनुष्का शर्मा को इंस्टाग्राम पर किया अनफॉलो

मुख्य कोच और सपोर्ट स्टाफ के लिए आवेदन देने की अंतिम तारीख 30 जून है. सीओए जल्द ही एमिकस क्यूरी से मिलेगी जिनसे वह इस बात पर चर्चा करेगी कि क्या सौरभ गांगुली, वीवीएस. लक्ष्मण पद पर बैठे हुए कॉमेंटेटर की भूमिका निभा सकते हैं या नहीं. सीओए सदस्य ने कहा, “हम एमिकस क्यूरी से बात करेंगे और यह मुद्दा सर्वोच्च अदालत के समक्ष लाया जाएगा.”