विश्व कप विजेता कप्तान कपिल देव (Kapil Dev) ने न्यूजीलैंड दौरे पर फ्लॉप रहे विराट कोहली (Virat Kohli) की खराब फॉर्म को उनकी कमजोर नजर का नतीजा बताया है। दिग्गज ऑलराउंडर का मानना है कि बढ़ती उम्र के साथ बल्लेबाजों को इस परेशानी से जूझना पड़ता है और कोहली को अपनी नजर के हिसाब से खुद को ढालना होगा। Also Read - इरफान पठान की मदद से आईपीएल तक पहुंचा जम्मू-कश्मीर का क्रिकेटर टूर्नामेंट स्थगित होने से नाखुश

कपिल ने ‘एबीपी न्यूज’ से कहा, ‘‘हर बड़े बल्लेबाज के करियर में ऐसा समय आता है। ये उम्र है, कहते हैं कि 30 बरस का होने के बाद नजर कमजोर होती है और इसका आदी होने में छह महीने से एक साल का समय लगता है। मुझे लगता है कि उसे (कोहली को) अपनी नजर के अनुसार सामंजस्य बैठाने की जरूरत है। बड़े खिलाड़ी जब अंदर आती गेंद पर बोल्ड और एलबीडब्ल्यू होते हैं तो आपको उन्हें अधिक अभ्यास करने के लिए कहना होता है।’’ Also Read - इयान बिशप ने चुनी दशक की सर्वश्रेष्ठ ODI टीम; महेंद्र सिंह धोनी बने कप्तान, बुमराह को जगह नहीं

पूर्व कप्तान ने कबा कि वीरेंद्र सहवाग, राहुल द्रविड़ और महान बल्लेबाज विवियन रिचर्ड्स जैसे कई बल्लेबाजों को इस तरह की परेशानी का सामना करना पड़ा। Also Read - बीसीसीआई को भरोसा, भारत से टी20 विश्व कप की मेजबानी छीनकर 'आत्महत्या' नहीं करेगी ICC

ICC Women’s T20 World Cup: तय हो गया सेमीफाइनल का शेड्यूल; जानें किस टीम से कब भिड़ेगा भारत

कपिल ने कहा, ‘‘ये दर्शाता है कि आपकी आंखें और प्रतिक्रिया देने की क्षमता में कुछ कमजोर हुई हैं। 18 से 24 साल तक आपकी नजर सबसे बेहतर होती है लेकिन इसके बाद ये इस पर निर्भर करता है कि आप इस पर कैसे काम करते हैं। सहवाग, द्रविड़, विव रिचर्ड्स सभी को अपने करियर में इस तरह की परेशानियों को सामना करना पड़ा। इसलिए कोहली को ज्यादा अभ्यास करने की जरूरत है।’’

31 साल के कोहली न्यूजीलैंड दौरे पर खेली गई टेस्ट सीरीज में 9.50 के औसत से सिर्फ 38 रन बना पाए। इससे पहले सीमित ओवरों की सीरीज में उन्होंने एक अर्धशतक की मदद से 180 रन बनाए थे।