सेंट्रल क्राइम ब्रांच (CCB) ने कर्नाटक प्रीमियर लीग (KPL) मैच फिक्सिंग मामले पर बैंगलुरू से अंतर्राष्ट्रीय सट्टेबाज सय्याम को गिरफ्तार कर लिया गया है। वो हरियाणा का रहने वाला है, उसके लिए एक लुक-आउट सर्कुलर जारी किया गया था।

कर्नाटक प्रीमियर लीग से जुड़े फिक्सिंग मामले में बैंगलुरू पुलिस ने पहले ही दो पूर्ण रणजी क्रिकेटरों सीएम गौतम और अबरार काजी को गिरफ्तार किया था। दोनों बल्लेबाजों ने हुबली बनाम बेल्लारी फाइनल मैच में जानबूझकर धीमी बल्लेबाजी करने के लिए 20-20 लाख रुपए लिए थे। पुलिस को शक है कि इन खिलाड़ियों ने कई दूसरे मैचों में भी स्पॉट फिक्सिंग की थी।

इससे पहले पुलिस ने क्रिकेटर निशांत सिंह शेखावत को पकड़ा था जो कि बुकीज से सीधे संपर्क में था। बैंगलुरू ब्‍लास्‍टर फ्रेंचाइजी के गेंदबाजी कोच वीनू प्रसाद और बल्‍लेबाज एम विश्‍वनाथन की गिरफ्तारी के बाद शेखावत का नाम सामने आया था।

भारत के अनुभवहीन गेंदबाजों पर दबाव डालना चाहते हैं बांग्लादेशी कोच

शेखावत ने वीनू प्रसाद और विश्वनाथन को बुकी मनोज कुमार उर्फ मोंटी से मिलवाया था, जो कि चंडीगढ़ का रहने वाला था। बता दें कि केपीएल फिक्सिंग मामले में एक टीम के गेंदबाजी कोच को भी गिरफ्तार किया था।